सफेद या पीला? कौन-से रंग का घी होता है ज्यादा सेहतमंद जानने के लिये पढ़े पूरी खबर

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : देसी घी न सिर्फ खाने को स्वादिष्ट बनाता है बल्कि पोषक तत्वों से भी भरपूर होता है। चाहे वह दाल का कटोरा हो, रोटी हो या पराठा, देसी घी हर डिश के स्वाद को बढ़ा देता है। वहीं, स्वाद बढ़ाने के बाद भी कई लोग देसी घी का सेवन यह सोचकर नहीं करते हैं कि इससे उनका वजन बढ़ेगा, लेकिन देसी घी फायदों से भरपूर होता है। वेट बढ़ने के डर से आप इसे न खाकर कई पोषक तत्वों के फायदे लेने से चूक जाते हैं।

पोषक तत्वों की बात करें, तो देसी घी प्रोटीन, स्वस्थ वसा, विटामिन ए, ई और के का खास स्रोत है। देसी घी आपकी त्वचा, बालों, पाचन और दिल की सेहत के लिए भी अच्छा है। आपने मार्केट में दो तरह के घी देखें होंगे, एक जिसका रंग सफेद होता है और दूसरा जिसका रंग पीला होता है। ऐसे में सवाल उठता है कि सफेद या पीला, कौन-सा देसी घी ज्यादा सेहतमंद होता है? पहले यह जानना जरूरी है कि सफेद घी भैंस के दूध से बनता है, पीला घी गाय के दूध से बनता है।

 

सफेद घी की खास बातें – पीले घी की तुलना में सफेद घी में फैट कम होता है। इसमें फैट की मात्रा अधिक होने के कारण इसे लंबे समय तक प्रिर्जव किया जा सकता है। यह हड्डियों को मजबूत बनाए रखने, वजन बढ़ाने और हृदय की मांसपेशियों की गतिविधि को बढ़ाने में मदद करता है। भैंस के दूध से बना घी मैग्नीशियम, कैल्शियम और फास्फोरस जैसे तत्वों से भरपूर होता होता है।

पीले घी की खास बातें – गाय का घी वजन घटाने के लिए अच्छा होता है, यह बड़ों और बच्चों में मोटापा कम करने में मदद करता है और डाइजेस्ट भी आसानी से हो जाता है। गाय के दूध में A2 प्रोटीन होता है, जो भैंस के दूध में नहीं होता है। A2 प्रोटीन सिर्फ गाय के घी में ही मिलता है। गाय के घी में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, खनिज, कैल्शियम, विटामिन होते हैं। गाय का घी हृदय को अच्छा प्रदर्शन करने में मदद करता है, साथ ही खतरनाक ब्लड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है।

कौन-सा घी है ज्यादा सेहतमंद- दोनों तरह के घी शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं और इनमें फैट की मात्रा समान होती है। भैंस के घी की तुलना में गाय के घी को ज्यादा अच्छा समझा जाता है। गाय का घी बेहतर होता है क्योंकि इसमें कैरोटीन विटामिन ए होता है, जो आंख और मस्तिष्क के कार्य के लिए अच्छा होता है। यह पाचन के लिए अच्छा होता है और इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। भैंस के दूध वाले घी में गाय के घी की तुलना में अधिक वसा और कैलोरी होती है। यह सर्दी, खांसी और कफ जैसी समस्याओं और जोड़ों के दर्द को ठीक रखने में भी मदद करता है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button