अपने फोन पर ये 5 काम करने से हमेशा रहे सावधान, वरना फट सकता है आपका फोन

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : फोन की बैटरी फटने की घटना इन दिनों एक आम बात हो गई है। एक वनप्लस नोर्ड 2 स्मार्टफोन में ब्लास्ट हुआ जिससे यूजर को भी काफी नुकसान पहुंचा। इस साल की शुरुआत में लॉन्च होने के बाद से वनप्लस नॉर्ड 2 के ब्लास्ट होने की कई घटनाएं सामने आई हैं। हैरान करने वाला बात ये है कि ज्यादातर मामलों में कंपनी ने ग्राहकों को ही इसका जिम्मेदार बताया और दावा किया कि फोन उपयोग करने के लिए सुरक्षित है। जैसा कि वनप्लस का दावा है, सभी ब्रांडों के सभी स्मार्टफोन विभिन्न क्वालिटी और सेफ्टी टेस्ट से गुजरते हैं, जिसमें प्रेशर और इम्पेक्ट टेस्ट के कई लेवल शामिल हैं।

फोन ब्लास्ट होने के कई कारण हो सकते हैं। जिसमें से एक कंपनी द्वारा एक अनुचित क्वालिटी टेस्ट हो सकता है। वहीं अन्य में उपभोक्ता जिम्मेदार हैं। इन दिनों फोन की बैटरी ब्लास्ट होने की घटनाएं बहुत आम हो गई हैं, इसलिए हम पांच ऐसी बातें बता रहे हैं, जो संभवतः इस तरह की घटना का कारण बन सकती है।

अपने फोन पर ये 5 काम करने से हमेशा बचें

1. डिवाइस या बैटरी का फिजिकल डैमेज
फोन की बैटरी के फटने का सबसे आम कारणों में से एक डैमेज बैटरी। अक्सर जब आप अपना फोन गिराते हैं, तो बैटरी खराब हो जाती है, जिससे शॉर्ट-सर्किट, ओवरहीटिंग और बहुत कुछ होता है। जब एक बैटरी खराब हो जाती है, तो ज्यादातर मामलों में यह सूज जाती है, जिसे रियर पैनल को देखकर पहचाना जा सकता है।

सुरक्षित रहने का उपाय: यदि आपको कभी भी लगता है बैटरी में सूजन आ गई है, तो बिना देर किए फोन को सर्विस सेंटर ले जाएं और ओरिजनल बैटरी डलवाएं।

2. अनौपचारिक चार्जर का उपयोग करना
यह बैटरी ब्लास्ट की घटनाओं के होने के सबसे सामान्य कारणों में से एक है। ब्रांड हमेशा उपभोक्ताओं को आधिकारिक चार्जर का उपयोग करने का सुझाव देते हैं, लेकिन अक्सर इससे बचा जाता है। प्रोपराइटर के चार्जर के अलावा किसी अन्य फोन को चार्ज करना हमेशा जोखिम भरा हो सकता है और ऐसा इसलिए है क्योंकि थर्ड-पार्टी चार्जर्स में मोबाइल डिवाइस के लिए आवश्यक स्पेक्स की कमी होती है। ज्यादातर मामलों में, सस्ते और अप्रमाणित चार्जर फोन को गर्म कर सकते हैं और बैटरी सहित इंटरनल कंपोनेंट्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

सुरक्षित रहने का उपाय: अपने फ़ोन को चार्ज करने के लिए हमेशा आधिकारिक चार्जर का उपयोग करें।

3. रात भर चार्ज करना
ये सही है। रात भर चार्ज करने से फोन की बैटरी भी ब्लास्ट हो सकती है। हममें से ज्यादातर लोगों को अपने मोबाइल फोन को रात भर चार्जर पर रखने की आदत होती है, यह वास्तव में आपके फोन की सेहत के लिए बुरा है। अधिक समय तक चार्ज करने से ओवरहीटिंग, शॉर्ट-सर्किट और कभी-कभी विस्फोट हो जाता है। इसी कारण से, कई चिप्स बैटरी चार्जिंग स्तर 100 प्रतिशत पहुंचने पर चार्जिंग ऑटोमैटिक बंद करने की क्षमता के साथ आते हैं लेकिन कई फोन में ऐसी सुविधा नहीं मिलती।

सुरक्षित रहने का उपाय: गलती से भी अपने फोन को रात भर चार्ज न करें।

4. बैटरी पानी या सीधी धूप के संपर्क में आने से
फोन की बैटरी को सीधे धूप या पानी के संपर्क में लाने से बैटरी फटने की घटनाएं हो सकती हैं। बहुत अधिक गर्मी सेल्स को अनस्टेबल कर सकती है और ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड जैसी गैसों का उत्पादन कर सकती है, जिससे बैटरी फूल सकती है और अंततः फट सकती है। इसलिए बेहतर होगा कि फोन को सीधी धूप में न रखें। इसी तरह, फोन/किसी भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को पानी के संपर्क में लाने से बैटरी सहित आंतरिक भाग प्रभावित हो सकते हैं, जिससे विस्फोट की घटनाएं हो सकती हैं। आजकल कुछ फोन आईपी सर्टिफिकेशन के साथ आते हैं, लेकिन ऐसे विकल्प सीमित हैं।

सुरक्षित रहने का उपाय: अपने फोन को पानी या सीधी धूप से दूर रखें।

5. प्रोसेसर ओवरलोड
ज्यादातर स्थितियों में, मल्टी-टास्किंग और गेमिंग सेशन के परिणामस्वरूप प्रोसेसर फोन को गर्म कर सकता है। इस तरह के हीटिंग डैमेज हो सकती है और बाद में फट सकती है। ऐसे उदाहरणों से बचने के लिए, ओईएम ने थर्मल लॉक फीचर जोड़ना शुरू कर दिया है, जो हीटिंग मुद्दों को नियंत्रण में रखता है।

सुरक्षित रहने का उपाय: यदि आपका फोन मल्टी-टास्किंग या गेमिंग सेशन के दौरान गर्म हो जाता है तो अपने फोन को कुछ समय के लिए आराम दें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button