आज सीएम योगी का दौरा : कानपुर में 16 और लखनऊ में 26 नए संक्रमित मिले, 2 गर्भवती महिलाएं भी शामिल

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : यूपी के कानपुर में जीका वायरस की चपेट में आए संक्रमित लगातार सामने आ रहे हैं। मंगलवार को कानपुर में 16 नए जीका संक्रमित सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 105 हो गई है। नए मरीजों में 2 गर्भवती महिलाएं भी शामिल हैं। जीका वायरस के मामलों के मद्देनजर हालातों का जायजा लेने के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditya Nath) भी आज कानपुर के दौरे पर रहेंगे।सीएम योगी कानपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑडिटोरियम में जिले के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में योगी जीका वायरस से निपटने की तैयारियों की समीक्षा करेंगे। इसके अलावा सीएम योगी जीका वायरस प्रभावित इलाकों का भी दौरा करेंगे। यहां योगी जीका वायरस से संक्रमित मरीजों के परिजनों से मुलाकात करेंगे। नए संक्रमितों में सात महिलाएं हैं, इनमें दो गर्भवती हैं। इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अधिकारियों ने अल्ट्रासाउंड कराया गया है।जीका संक्रमित एक गर्भवती महिला काजीखेड़ा और दूसरी फेथफुलगंज की है।

कानपुर के आलावा लखनऊ में भी लगातार जीका संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं। मंगलवार को लखनऊ में भी जीका के 26 नए संक्रमित मिले हैं। राजधानी के ऐशबाग, अलीगंज, इंदिरा नगर, मलिहाबाद, नगराम, एनके रोड, आलमबाग, सरोजनी नगर, गोसाईगंज तथा रेड क्रॉस इलाकों से नए मरीज सामने आए हैं। उधर जिला मलेरिया अधिकारी की टीम ने मच्छर जनित स्थिति पाए जाने पर 11 घरों को नोटिस भी जारी किया है।

चकेरी क्षेत्र के पोखरपुर,आदर्शनगर, तिवारीपुर बगिया, काजीखेड़ा और फेथफुलगंज में नए जीका संक्रमित मिले हैं। संक्रमितों की रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने प्रभावित क्षेत्रों में सर्वे और सोर्स रिडक्शन अभियान चलाया है। संक्रमित के घर के चारों तरफ चार सौ मीटर के दायरे में एंटी लार्वा दवाओं का छिड़काव कराया गया। इसके साथ ही संक्रमितों के संपर्क में आने वालों की सैंपलिंग की है।

सैंपल जांच के लिए केजीएमयू लखनऊ भेजे जाएंगे। इस वक्त शहर में महानिदेशालय चिकित्सा स्वास्थ्य और दिल्ली की एनआईसीडी की टीमें स्थिति का जायजा ले रही हैं। विभाग के राज्य सर्वेलांस अफसर डॉ. विकासेंदु अग्रवाल ने स्थिति का जायजा लिया.अपर निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ. जीके मिश्रा ने बताया कि विभागीय टीमें संक्रमण की रोकथाम में लगी हुई हैं।

जीका एक मच्छर से फैलने वाला वायरस है जो एडीज एजिप्टी नाम की प्रजाति के मच्छर के काटने से फैलता है।  एडीज मच्छर आमतौर पर दिन के दौरान काटते हैं। ये वही मच्छर है जो डेंगू, चिकनगुनिया फैलाता है। ज्यादातर लोगों के लिए जीका वायरस का संक्रमण कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन ये प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए खासतौर से भ्रूण के लिए खतरनाक हो सकता है।

रोग के लक्षण
– हल्का बुखार
– शरीर में दाने और लाल चकत्ते
– सिर दर्द, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द
– आंखों में लाली
– गुलेन बारी सिंड्रोम, न्यूरोपैथी

कैसे करें बचाव
– खुद को मच्छरों के काटने से बचाएं
– शरीर को फुल आस्तीन के कपड़ों से ढंके रखें
– मच्छरों को घर के आसपास पनपने न दें
– गर्भवती महिलाओं को खासतौर पर मच्छरों से बचाएं
– घर के टूटे बर्तन, टायर, कूलर में पानी भरा न रहने दें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button