जीका वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने दिए ये निर्देश

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : कानपुर में जीका वायरस कहर बरपा रहा है। दिवाली में लोगों के आवागमन को लेकर लखनऊ में खास एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं। बुखार पीड़ितों में लक्षणों के आधार पर जीका जांच भी कराई जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने सभी बुखार पीड़ितों की डॉक्टर से सलाह लेने को कहा गया है।डेंगू और मलेरिया के बीच जीका वायरस ने दहशत बढ़ा दी है। त्योहार में लोगों का आवागमन बढ़ा है। कानपुर से भी काफी लोगों की आवाजाही है। ऐसे में जीका वायरस का खतरा बढ़ गया है। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि बुखार पीड़ित यात्रियों की जांच कराई जा रही है। इन मरीजों की निगरानी भी कराई जा रही है। कोविड कमांड सेंटर से इन लोगों से नियमित सेहत का हाल लेने के निर्देश दिए गए हैं। ताकि बाद में लक्षण नजर आने पर समय पर मरीज की पहचान और इलाज मुहैया कराया जा सके। जीके के लक्षण डेंगू के समान हैं। किसी व्यक्ति को संक्रमित मच्छर से काटे जाने से बीमारी हो सकती है। बुखार पीड़ित के शरीर पर यदि चकत्ते नजर आएं तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। जीका वायरस भी एडीज मच्छर के काटने से हो सकता है। इस मच्छर के काटने से डेंगू होता है।

जीका के लक्षण

-आंखें लाल होना
-सिर में दर्द
-मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द
-थकावट
-लक्षण आमतौर पर 2 से 7 दिनों तक चलते हैं
-घबराहट
-बेचैनी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button