यूपी : जीका वायरस की चपेट मे आए घर-घर जाने वाले 2 हेल्‍थ वर्कर, जानिए कितना खतरनाक है ये वायरस

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : उत्‍तर प्रदेश के कानपुर में लोगों के जीका वायरस की चपेट में आने का डर और बढ़ गया है। इस वायरस का जाल कई किलोमीटर तक फैल गया है। अभी तक परदेवनपुरवा तक ही संक्रमित मिल रहे थे लेकिन उसने अब पूरे चकेरी के साथ ही जीटी रोड और हाईवे किनारे बसे इलाकों को भी चपेट में ले लिया है। 11 जीका संक्रमितों में दो हेल्थ वर्कर भी मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप इस बात को लेकर मचा है कि ये वर्कर सैकड़ों घरों तक पहुंचे हैं, इसलिए दोनों की ट्रैवल हिस्ट्री बनाई जा रही है। इनके संपर्क में आए लोगों के भी नमूने लिए जाएंगे।जीका वायरस ने परदेवनपुरवा, पोखरपुर, कालीबाड़ी, लालबंगला, शिवकटरा के साथ ही कई किलोमीटर दूर जीटी रोड पर काकोरी और श्याम नगर को भी चपेट में लिया है। यहां पर दो रोगी पॉजिटिव मिले हैं। इसी तरह शिवकटरा के बाद हाईवे के किनारे बसे कोयला नगर में भी जीका पहुंच गया है। यहां पर हेल्थ वर्कर का आवास है। अभी तक जीका कैन्ट और चकेरी के एक हिस्से के बड़े हिस्से में मौजूदगी दिखा रहा था लेकिन कोयला नगर में पॉजिटिव रोगी के मिलने से संक्रमण का खतरा दक्षिण तक पहुंचने का हो गया है क्योंकि एक हेल्थ वर्कर ने दक्षिण के इलाके में बीते कई दिनों से आवाजाही करने की जानकारी साझा की है। अभी तक उनके बारे में संशय रहा लेकिन अब स्वास्थ्य विभाग की सर्विलांस टीम ने खुलासा कर दिया है। इसमें एक आशा वर्कर हरजेंदर नगर और टेक्नीशियन टीम का सदस्य कोयला नगर का रहने वाला है।

दोनों हेल्थ वर्करों की केस हिस्ट्री शासन के साथ ही डब्ल्यूएचओ को भी दी जाएगी ताकि उनके संपर्क में आए सभी लोगों की सैम्पलिंग की जा सके। दोनों हेल्थ वर्कर एक पखवारे से कहां-कहां गए तो उनके संपर्क में आए लोगों की भी सैम्पलिंग कर संक्रमण की चेन का पता लगाया जाएगा। सर्विलांस टीम की मानें तो इन दोनों को जीका वायरस की संक्रमण लालबंगला क्षेत्र से ही मिला है क्योंकि एयरफोर्स स्टेशन ओर इन्हें गए हुए 23 दिन हो गए हैं। अपर निदेशक स्वास्थ्य डॉ. जीके मिश्र ने बताया कि दोनों का ब्योरा जुटा लिया गया है। सभी संक्रमितों की आवाजाही और संपर्क में रहने वालों की सूची बनाई जाएगी, फिर नमूने लिए जाएंगे।

डीएम विशाख जी ने मंगलवार को जीका वायरस प्रभावित शिवकटरा का निरीक्षण किया। उन्होंने नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग की टीम के जरिए चल रहे सर्विलांस, सोर्स रिडक्शन, सैंपलिंग व उस क्षेत्र में फॉगिंग का जायजा लिया। 209 घरों का सोर्स रिडक्शन और 1554 घरों का सर्विलांस किया गया। इस क्षेत्र में 5 टीमों इनडोर फॉगिंग और 05 टीमों द्वारा आउटडोर फॉगिंग की जा रही है। टीम ने 1519 पात्रों को चेक कर 5 पात्रों को खाली कराया। सर्विलांस टीम ने 6393 व्यक्तियों से सम्पर्क किया।

डीएम ने लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि अपने घरों में साफ पानी को एकत्र न होने दें और मच्छरदानी का प्रयोग करें। नगर आयुक्त को निर्देशित करते हुए कहा कि क्षेत्र में सफाई कार्य सुनिश्चित कराया जाए और लगातार दवा का छिड़काव करें। पॉजिटिव आने वाले मरीज की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करते हुए सभी का सैंपल लिया जाए। डीएम ने बताया कि मंगलवार को 451 सैंपल लिए गए है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button