Gold Price Today : सोने कीमतों में गिरावट, जानिये क्या है आजका भाव

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : सोना इस दिवाली अपनी चमक फिर से हासिल करने के लिए तैयार है। सर्राफा कारोबारियों को उम्मीद है कि अर्थव्यवस्था में उम्मीद से अधिक तेजी से पुनरुद्धार, कीमतों में कमी और दबी मांग की वजह से सोने की बिक्री कोविड-पूर्व के स्तर से 30 प्रतिशत अधिक रहेगी। देशभर में लॉकडाउन और आवाजाही पर प्रतिबंधों सहित कोविड -19 से संबंधित व्यवधानों के बाद रत्न और आभूषण उद्योग का कारोबार, दिवाली और धनतेरस-2020 के दौरान काफी फीका रहा था।अखिल भारतीय रत्न एवं आभूषण घरेलू परिषद के चेयरमैन आशीष पेठे ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘हम श्राद्ध’ के बाद से कारोबारी गतिविधियों में वृद्धि देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोने की कीमतें घटकर 42,500 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर आ गई थी, जिससे इस पीली धातु की उपभोक्ता मांग बढ़ी है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों के दौरान बेहतर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह संकेत देता है कि आर्थिक पुनरुद्धार पटरी पर है। महामारी के कारण जो शादियां स्थगित हो गई थीं वह अब इस साल के अंत में होंगी। इससे रत्नों और आभूषणों की बिक्री बढ़ेगी।

पेठे ने कहा, ‘सकारात्मक उपभोक्ता और बाजार के संकेतों को देखते हुए हम वर्ष 2019 की तुलना में बिक्री में 20-25 प्रतिशत की वृद्धि की उम्मीद करते हैं।’ हम देशभर से इस सकारात्मक गति को देख रहे हैं। देश में सोने का भाव शनिवार को 56,000 रुपये के उच्चतम स्तर को छूने के बाद घटकर 49,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर आ गया है।

इस बीच, चिश्व स्वर्ण परिषद (डब्ल्यूजीसी) के क्षेत्रीय मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ), भारत सोमसुंदरम पीआर ने कहा कि मुख्य रूप से उच्च टीकाकरण दर और संक्रमण घटने के साथ महामारी पर रोकथाम होता दिख रहा है, जिससे आर्थिक गतिविधियों में मंदी का रुख पलट गया है। उन्होंने डब्ल्यूजीसी की तीसरी तिमाही की वैश्विक स्तर पर सोने की मांग के रुख-2021 रिपोर्ट के हवाले से कहा, ”जुलाई-सितंबर तिमाही में जहां सोने के आभूषणों की मांग 58 प्रतिशत बढ़कर 96.2 टन हो गई, वहीं बार और सिक्कों की निवेश मांग में भी 18 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।”

उन्होंने कहा कि देशभर में प्रतिबंधों को धीरे-धीरे हटाए जाने को देखते हुए खुदरा मांग वापस पूर्व-कोविड स्तर पर लौट रही हैपीएनजी ज्वेलर्स के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक सौरभ गाडगिल ने कहा कि नवरात्रि शुरू होने के बाद से बाजार में मजबूत मांग देखी जा रही है।

 

मालाबार गोल्ड एंड डायमंड्स के चेयरमैन अहमद एमपी ने कहा कि कंपनी को उम्मीद है कि दबी मांग के कारण इस साल धनतेरस के दौरान उपभोक्ताओं की सोने के आभूषणों के लिए अच्छी मांग होगी। उन्होंने कहा, ”चूंकि आर्थिक सुधार गति पकड़ रहा है, हम दिवाली के दौरान सकारात्मक उपभोक्ता भावना की उम्मीद करते हैं। हमें दिवाली के दौरान पिछले साल की तुलना में बिक्री में 30-40 प्रतिशत की वृद्धि होने की उम्मीद है।”

 

डब्ल्यूएचपी ज्वेलर्स के निदेशक आदित्य पेठे ने कहा कि उद्योग आगामी त्योहारी सत्र को लेकर काफी आशान्वित है। पूजा डायमंड्स के निदेशक श्रेय मेहता ने कहा कि उद्योग जगत को धनतेरस समेत इस सत्र से काफी उम्मीदें हैं क्योंकि शादियों का मौसम अभी शुरू हो रहा है और दबी मांग ज्यादा है। उन्होंने कहा, ”हमें उम्मीद है कि यह उत्साह दिवाली के बाद भी जारी रहेगा और उम्मीद है कि यह सकारात्मक उपभोक्ता भावना अगले साल की पहली छमाही तक जारी रहेगी।”

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button