अनुप्रिया पटेल के परिवार में छिड़ी महाभारत, डीजीपी को एक चिट्ठी लिखकर मां की जान का बताया खतरा

Anupriya Patels Family Feud: केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने परिवार के इस झगड़े पर हमेशा चुप्पी साधे रखी। अनुप्रिया पटेल की तरफ़ से उनके पति और एमएलसी आशीष पटेल ने सधा हुआ बयान दिया है।

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल (Anupriya Patel) के परिवार में छिड़ी महाभारत खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। इस आपसी झगड़े में अब परिवार की सबसे छोटी बेटी अमन पटेल भी कूद पडी हैं। अमन ने यूपी के डीजीपी (DGP) को एक चिट्ठी लिखकर अपनी मां कृष्णा पटेल की जान को खतरा बताया है और उनसे सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जाने की गुहार लगाई है।

ख़ास बात यह है कि अमन पटेल ने मां की जान को खतरा अपनी बड़ी बहन डॉ पल्लवी पटेल से ही बताया है। इतना ही नहीं उन्होंने पल्लवी और उनके पति पर कोई बड़ी साजिश रचने की आशंका भी जताई है। अमन ने डीजीपी को भेजी गई यह चिट्ठी मीडिया के ज़रिये सार्वजनिक भी कर दी है। इस चिट्ठी के सामने आने के बाद परिवार का झगड़ा एक बार फिर सड़क पर आता हुआ नज़र आने लगा है।

 

छोटी बेटी अमन की चिट्ठी को लेकर केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया की मां कृष्णा पटेल का बयान भी सामने आ गया है। कृष्णा पटेल ने एबीपी गंगा से फोन पर हुई बातचीत में सुरक्षा को लेकर उठाए गए सवालों पर अपनी मुहर भी लगाई है। उन्होंने साफ़ तौर पर कहा कि सियासी तौर पर लगातार सक्रिय रहने की वजह से उनके लिए खतरे की आशंका हमेशा बनी रहती है। सुरक्षा को लेकर पहले भी कई बार आवाज़ उठाई गई है। सुरक्षा मिलनी ही चाहिए।

 

हालांकि कृष्णा पटेल ने दूसरे नंबर की बेटी पल्लवी पटेल से किसी तरह का खतरा होने के आरोपों को सिरे से नकार दिया। उन्होंने कहा, कि मुझे अपनी चारों बेटियों में से किसी से भी कोई खतरा नहीं है। मैंने अपनी बेटियों को ऐसे संस्कार नहीं दिए कि वह मेरी ज़िंदगी के लिए ही खतरा बन जाएं। कृष्णा पटेल ने यह भी दलील दी कि उनकी चारों बेटियां उनसे ख़ासा लगाव रखती हैं, लेकिन डॉ सोनेलाल पटेल के निधन के बाद पल्लवी ही उनके साथ सबसे ज़्यादा रही हैं।

 

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया की सबसे छोटी बहन अमन ने डीजीपी को लिखी गई अपनी चिट्ठी में पैतृक संपत्ति की वसीयत को लेकर भी सवाल उठाए हैं। आरोप लगाया है कि पैतृक संपत्ति उनकी जानकारी के बिना बड़ी बहन डॉ पल्लवी पटेल के नाम वसीयत कर दी गई थी। मां कृष्णा पटेल अब वसीयत बदलने का मन बना रही हैं। ऐसा होने की सूरत में पल्लवी पटेल को ही नुकसान होगा और वह इससे बचने के लिए मां कृष्णा पटेल के लिए खतरा बन सकती हैं। अमन ने अपनी इस चिट्ठी में पल्लवी के पति और कांग्रेस नेता पंकज निरंजन के नाम का भी जिक्र किया है।

 

दूसरी तरफ पल्लवी पटेल और उनके पति पंकज निरंजन का कहना है कि उन पर बेबुनियाद और अनर्गल आरोप इस वजह से लगाए जाते हैं, ताकि वह लोग बीजेपी और उसकी सरकारों का विरोध बंद कर दें। डॉ सोनेलाल पटेल की संदिग्ध मौत की सीबीआई जांच की मांग उठाना बंद कर दें। इन्होंने सवाल उठाए हैं कि बीजेपी की सरकारों में शामिल उनके परिवार के लोग जब अपनी मां की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं कर सकते तो वह आम जनता की सुरक्षा को लेकर बड़े-बड़े दावे कैसे करते हैं। इनका यह भी दावा है कि परिवार के कुछ लोगों को सियासी तौर पर इस्तेमाल कर उन्हें डिस्टर्ब करने की कोशिश की जा रही है, ताकि बीजेपी को हराने के मिशन में वह लोग विधानसभा चुनाव की तैयारियों में पिछड़ जाएं।

 

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की तरफ़ से उनके पति और एमएलसी आशीष पटेल ने सधा हुआ बयान दिया है. उनका कहना है कि परिवार के आपसी विवाद से उनका कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन अनुप्रिया पटेल की मां कृष्णा पटेल की सुरक्षा को लेकर उन्हें भी चिंता ज़रूर है। उनके मुताबिक़ वह हमेशा पारिवारिक विवाद को ख़त्म कराने के प्रयास में रहते हैं और इसी वजह से कभी कोई बयानबाजी भी नहीं करते, लेकिन कुछ लोग मां कृष्णा पटेल को लगातार बरगलाने का काम करते हैं।

 

परिवार की छोटी बेटी अमन पटेल की इस चिट्ठी पर यूपी पुलिस के मुखिया क्या कदम उठाते हैं, इसका फैसला तो वक़्त करेगा, लेकिन इस चिट्ठी से मचे घमासान ने परिवार के साथ ही सियासी गलियारे में भी कोहराम मचा दिया है। वैसे परिवार का यह झगड़ा साल 2009 में अपना दल संस्थापक डॉ सोनेलाल पटेल की सड़क हादसे में हुई संदिग्ध मौत के साथ ही पनपने लगा था। 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले अनुप्रिया पटेल ने जब बीजेपी से समझौता कर लिया तो यह विवाद आसमान पर पहुंच गया। परिवार में दो गुट बन गए और पार्टी भी दो फाड़ हो गई। अमन पटेल अपने से बड़ी बहन केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया के खेमे में आ गईं, जबकि दूसरे नंबर की पल्लवी और मां कृष्णा पटेल एक साथ नज़र आती रहीं।

 

वैसे केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने परिवार के इस झगड़े पर हमेशा चुप्पी साधे रखी। सवालों पर हमेशा उन्होंने मां के प्रति सम्मान जताया और हमेशा यह दावा किया कि सब कुछ जल्द ही ठीक हो जाएगा। जानकारी यह मिली है कि छोटी बेटी अमन पटेल की चिट्ठी को लेकर कृष्णा पटेल दो दिन बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया के सामने अपना पक्ष रख सकती हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button