तो क्या भारत पाक मैच मे था मोदी सरकार का दखल आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से भारत की हार पर बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने अपना रिएक्शन दिया है। राकेश टिकैत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वह पाकिस्तान से मैच हारने का दोषी सरकार को ठहरा रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल इस क्लिप पर फिल्ममेकर अशोक पंडित ने भी रिएक्ट किया है। राकेश टिकैत की हंसी उड़ाते हुए अशोक पंडित कहते हैं- प्रख्यात क्रिकेट विशेषज्ञ का एक्सपर्ट कमेंट भी आ गया। अशोक पंडित ने राकेश टिकैत को लेकर सवाल पूछते हुए कहा-अरे भाई कोई है जो इस बंदे का इलाज कर दे?वायरल वीडियो में मोदी सरकार को घेरते हुए राकेश टिकैत कहते हुए नजर आ रहे हैं– ‘मैच मैंने नहीं देखा, लेकिन गांव के लोगों ने बताया कि मैच सरकारों ने हराया है। भारत सरकार ने, मोदी सरकार ने मैच को हराया। ताकि हिंदू मुस्लिम कॉन्ट्रोवर्सी पैदा हो। ये वोट बटोरने का एक तरीका है। उनकी तरफ से मैच हारें, चाहे देश के खिलाड़ियों की बेइज्जती हो।

वीडियो में राकेश टिकैत से पूछा जाता है- ये कौन से गांव के लोग हैं जो ऐसा कह रहे हैं? इस पर राकेश टिकैत जवाब देते हैं- ये सारे गांव के लोग ही हैं पूछलो किसी से भी। आप किसी भी गांव के लोगों से पूछ लो। इस पर रिपोर्टर कहते हैं- यानी आप कह रहे हैं कि इस मैच में सरकार का दखल था? जवाब में राकेश टिकैत कहते हैं- हारने से अगर वोट मिलेंगे तो मैच हरा दिया।

 

इस पोस्ट को देख कर यूजर्स के कमेंट भी आने शुरू हो गए। अमित कुमार नाम के शख्स ने चुटकी लेते हुए लिखा- ‘अब जा के शांति मिली है, दो दिन से लग रहा था कि जीवन में कुछ मिसिंग है। इनके ज्ञान के प्रकाश से महागठबंधन की हर पार्टी नेता प्रकाशित होती है। ईश्वर से और यूपी वालों से प्रार्थना है कि महाराज को 2022 में पूर्ण बहुमत दें। तब ही इनका बक्कल उतर पाएगा और बुल्डोजर चल पाएगा ।

अभय ठाकुर नाम के यूजर ने लिखा- सही है यार, क्या बंदा है ये? इसको दिन दुनिया का पता भी है कुछ क्या? एक दिन बोल रहा था कि Center और State Govt. एक ही तो होती है। फिर इंटरव्यूवर ने बोला कि अलग होती है। तो पूछता अलग होती है क्या? दुनिया को मुर्ख समझते हैं ये लोग। भुजाराज नाम के यूजर बोले- ‘टिकैत साहेब ने कमाल कर दिया। ऐसे ही एक देश को 10 महीने से बेबकूफ नहीं बनाया जा सकता। उसके लिए टिकैत जैसा काबिल बनना पड़ता है। क्या काबिलियत है टिकैत साहेब में। ऐसे ही काबिलियत दिखाते रहिए पत्रकार को भी, देश के लोगों को भी और सरकार को भी। टिकैत नाम के आगे पंडित लगाना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button