सरकार ने दुर्गा पूजा पर बढ़ाई सुरक्षा, 13 संवेदनशील जिलों में 20 IPS अफसरों की तैनाती

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : लखनऊ. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार (Yogi Government) ने दुर्गा पूजा (Durga Puja) और किसान संगठनों (Farmer Protest) द्वारा घोषित कार्यक्रमों के दौरान कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए शासन ने कड़े दिशा-निर्देश जारी किए हैं। शासन ने पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती करते हुए अग्रिम आदेशों तक सेक्टर व्यवस्था लागू करने को कहा है। इसके साथ ही प्रदेश के 13 संवेदनशील जिलों में 20 वरिष्ठ पुलिस अफसरों की तैनाती की गई है।

अफसर आवंटित जिलों में ही कैम्प करेंगे। लखीमपुर खीरी में आईजी लक्ष्मी सिंह और एडीजी एसएन साबत मौजूद रहेंगे। जबकि बरेली में एडीजी अविनाश चंद्र, मेरठ में एडीजी मेरठ जोन राजीव सब्बरवाल, बहराइच में एडीजी अखिल कुमार, आईजी राकेश सिंह और डीआईजी पीएसी आशुतोष शुक्ला को तैनात किया गया है।

 

गाजियाबाद में आईजी मेरठ रेंज प्रवीण कुमार, शामली में आईजी रेलवे सत्येंद्र कुमार सिंह, पीलीभीत में आईजी बरेली रमित शर्मा, एसपी 112 अजय पाल और एडिशनल एसपी अनिल कुमार झा, मुजफ्फरनगर में आईजी ईओडब्ल्यू हीरालाल, अमरोहा में डीआईजी विजिलेंस एलआर कुमार, शाहजहांपुर में डीआईजी रविशंकर छवि और डिप्टी कमांडेंट राम सुरेश, मुरादाबाद में डीआईजी शलभ माथुर, बिजनौर में डीआईजी राम लाल वर्मा और उप सेनानायक हरेंद्र कुमार और रामपुर में उप सेनानायक अरुण कुमार दीक्षित को किसान आंदोलन के लिए तैनात किया गया है।

 

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने सभी मंडलायुक्तों, चारों पुलिस कमिश्नरों, सभी आईजी-डीआईजी रेंज, जिलाधिकारियों तथा जिलों के पुलिस कप्तानों के लिए आदेश जारी किया। अपर मुख्य सचिव गृह के मुताबिक, ‘त्योहारों का समय प्रारंभ हो चुका है. प्रदेश में शांतिपूर्ण वातावरण बना रहे, इसके लिए सभी नियोजित प्रयास किए जाएं।

 

जिलाधिकारी और पुलिस कप्तान से लेकर प्रशासन के सभी अंग सतर्क और सावधान रहें। दुर्गा पूजा कमेटियों, धर्माचार्यों, किसान संगठनों, सिविल सोसाइटी के साथ संपर्क-संवाद बनाया जाए। सभी का सहयोग लेकर पर्व-त्योहारों को शांतिपूर्ण ढंग से संपादित कराया जाए. अराजक और उपद्रवी तत्वों पर सतत नजर रखी जाए। उनके साथ पूरी कठोरता की जानी चाहिए।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button