कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद के चचेरे भाई सपा में हुए शामिल

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले दल-बदल का खेल जारी है। योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद के चचेरे भाई और पूर्व एमएलसी जयेश प्रसाद को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए हैं। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस दौरान आयोजित कार्यक्रम में अखिलेश यादव ने कहा कि योगी सरकार में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। किसानों को कुचला जा रहा है, उनकी हत्या की जा रही है। अखिलेश यादव ने कहा इस सरकार में अगर सच बोलोगे, आवाज उठाओगे तो गाड़ी से कुचल दिए जाओगे। मंच पर पहुंचते ही जयेश प्रसाद को अखिलेश यादव ने सपा का झंडा देकर पार्टी में शामिल किया। इससे पूर्व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव जयेश प्रसाद के आवास पर भी गए।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शाहजहांपुर में कहा कि भाजपा सरकार जुल्म ढाने में अंग्रेजों से भी आगे चली गई। बोले कि अंग्रेजों ने भी कभी आंदोलनकारियों को कार से नहीं कुचला होगा। उससे भी आगे जाकर भाजपा सरकार मे केंद्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे ने शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे किसानों को कार से कुचल दिया। उसकी गिरफ्तारी भी नहीं की जा रही है। खीरी कांड के बाद भाजपा सरकार ने किलेबंदी ही कर दी। किसी को भी पीड़ित परिवारों से मिलने नहीं दिया जा रहा है।

अखिलेश यादव ने भाजपा की केंद्र और यूपी सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी। कहा कि यह पहली सरकार है, जिसके शासन में आईपीएस फरार है, पुलिस वाले मुख्यमंत्री के गोरखपुर जिले में व्यापारी की हत्या कर रहे हैं, खीरी में मंत्री का बेटा किसानों पर कार चढ़ा दे रहा है। ऐसी सरकारों पर कोई कैसे विश्वास करे। ऐसी सरकार को हटाना जरूरी है। अखिलेश ने मंच से सिख समुदाय से भावनात्मक रिश्ता जोड़ा। कहा कि पूरी दुनिया में इस भारत का नाम सिखों ने ही रोशन किया है। भारत की पहचान सिखों ने ही बनाई है। आज किसानों को कभी मवाली कहा जा रहा है, कभी आतंकवादी कहा जा रहा है। इतना अपमान किसानों का पहले कभी किसी सरकार ने नहीं किया। उन्होंने खीरी कांड को लेकर कहा कि किसानों को धमकाने के लिए मंत्री पहले असंसदीय भाषा का प्रयोग करता है। बाद में मंत्री का बेटा किसानों को कार चढ़ा देता है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button