लखीमपुर खीरी बवाल मे आया अजय मिश्रा का बयान,बोले-मेरे बेटे आशीष पर लगाए आरोप बेबुनियाद है…..

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : लखीमपुर में बवाल के बाद आज लखनऊ से लेकर खीरी तक में राजनितिक सरगर्मी तेज हैं। इस पूरे बवाल के बीच केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर हत्या का मुकदमा दर्ज हो गया है। उन पर और उसके समर्थकों ने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर गाड़ियां चढ़ाने का आरोप लगा है। इस मामले में उमड़ी भीड़ ने टेनी के ड्राइवर समेत चार लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी। इस बवाल में आठ लोगों की मौत हो गई है।

जिसकी कुछ लोगों ने बहुत पिटाई की। उसके सिर से खून निकल रहा है। वह घबराया है। ड्राइवर हाथ जोड़कर कह रहा है दादा-दादा….छोड़ दो। लोग उससे पूछ रहे है। किसने भेजा है टेनी ने। वह कहता है टेनी ने भेजा है। कुछ लोग उससे जबरदस्ती कहलवा रहे हैं कि कहो टेनी ने लोगों को मारने के लिए भेजा था। गाड़ी चढ़ाने के लिए कहा था। ड्राइवर कह रहा है टेनी ने भेजा था लेकिन गाड़ी चढ़ाने के लिए नहीं कहा कि वहां भीड़ लगी है उसे देखो। फिर कुछ लोग उसे डंडा दिखाते हैं और जबरन मनमानी बात कहने के लिए कहते हैं। जमीन पर हाथ जोड़कर छोड़ने के लिए गिड़गिड़ाता है लेकिन उसकी कोई नहीं सुनता।

 

लखीमपुर खीरी बवाल में अब गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी का बयान सामने आया है। उनका कहना है कि मेरे बेटे आशीष पर लगाए जा रहे आरोप बेबुनियाद है, वह मौके पर मौजूद नहीं था। अजय मिश्रा ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने हमारे दो कार्यकर्ताओं और एक ड्राइवर को पीट-पीटकर मार डाला। हम मामले में मुकदमा दर्ज करवा रहे हैं। हमारे पास वीडियो फुटेड है, जिससे साफ पता चल रहा है कि घटनास्थल पर आखिर हुआ क्या था? एक निजी चैनल से बातचीत में लखीमपुरखीरी से बीजेपी सांसद अजय मिश्रा ने प्रदर्शनकारियों पर पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्या करने का आरोप लगाया है। साथ ही कहा कि उनका बेटा मौके पर मौजूद नहीं था। उन्होंने कार्यकर्ताओं पर लाठियों और तलवारों से हमला किया। अगर मेरा बेटा होता तो जिंदा नहीं निकलता। उन्होंने हमारे लोगों को मारा है। हमारे पास वीडियो सबूत है। हम उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा रहे हैं। टेनी ने कहा कि इसमें शामिल लोगों के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया जाएगा और कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button