विपक्ष का भाजपा पर हमला, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने योगी को दी चेतावनी

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों के प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई। यह घटना तिकोनिया कोतवाली क्षेत्र के तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर हुई। घटना के बाद पूरा विपक्ष राज्य योगी सरकार पर हमलावर है। इस बीच आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चेतावनी दी है।

 

मनीष सिसोदिया ने क्या कहा है – डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करके कहा है, ‘’किसानों की हत्या कर दी गई और अब उनके परिवार से संवेदना व्यक्त करने जा रहे सांसद संजय सिंह जी को रात भर पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी सड़क पर रोक कर खड़े हैं। किसान के परिवार के ये आँसू भारी पड़ेंगे योगी जी!’’

इससे पहले आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह को भी लखीमपुर जाने से रोका गया। संजय सिंह को लखीमपुर जाते समय सीतापुर में रास्ते मे रोका गया। संजय सिंह ने इस घटना को लेकर कहा, ‘’सत्ता का ऐसा नशा न आपने कभी देखा होगा न सुना होगा। आंदोलनकारी किसानो को मंत्री के बेटे ने गाड़ी से रौंदकर मार दिया गया।’’ संजय सिंह ने हत्यारों को गिरफ़्तार करने, CBI जांच कराए जाने और परिवार को मुआवज़ा देने की मांग की है।

 

क्या है मामला – दरअसल प्रदर्शनकारी किसान यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के बनबीरपुर दौरे का विरोध कर रहे थे, जो केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और खीरी से सांसद अजय कुमार मिश्रा का पैतृक गांव है। प्रदर्शनकारियों को कथित रूप से कुचले जाने की घटना से नाराज लोगों ने दो वाहनों में आग लगा दी। किसानों का आरोप है कि एक वाहन में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा का बेटा सवार था, हालांकि मिश्रा ने आरोप को खारिज कर दिया है।

 

विपक्ष का योगी सरकार पर निशाना – इस घटना को लेकर विपक्षी दलों समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल और भारतीय किसान यूनियन ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और घटना के लिए बीजेपी और गृह राज्य मंत्री के बेटे को जिम्मेदार ठहराया है। हिंसा के मद्देनजर उपमुख्यमंत्री मौर्य का बनबीरपुर गांव का दौरा रद्द कर दिया गया।

 

सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा न्यायाधीश से कराई जाए घटना की जांच- किसान मोर्चा – केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ देश भर में किसानों के आंदोलन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने मांग की है कि लखीमपुर खीरी में हुई घटना की जांच उत्तर प्रदेश प्रशासन से न कराकर सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा न्यायाधीश से कराई जाए. किसान आंदोलन से जुड़े योगेंद्र यादव ने कहा कि लखीमपुर खीरी में प्रदर्शनकारियों को दो वाहनों से कुचले जाने के विरोध में सोमवार को देशभर में किसान जिलाधिकारी कार्यालयों के बाहर धरना देंगे।

 

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने लखीमपुर खीरी की घटना पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और सरकार इसके कारणों का पता लगाएगी और इसमें शामिल तत्वों को बेनकाब कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करेगी।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button