कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर फिर चर्चा पे भाजपा ने कसे कसीदे

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : पंजाब कांग्रेस में चल रहे अंदरुनी मतभेद को लेकर भारतीय जनता पार्टी हमलावर है। केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस में आंतरिक कलह को लेकर शुक्रवार को कटाक्ष किया और आरोप लगाया कि परिवार ने पंजे को अपनी निजी संपत्ति बनाने की कोशिश में पार्टी को पंगु बना दिया है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल के ताजा बयान और फिर उनके आवास के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शन के बाद विपक्षी पार्टी में एक बार फिर कलह शुरू हो गई है। जी23 के कई नेताओं ने सिब्बल के प्रति अपना समर्थन जताया है, तो कांग्रेस के कई दूसरे नेताओं ने सिब्बल को निशाने पर लिया है। कांग्रेस में कलह के बारे में पूछे जाने पर भाजपा के वरिष्ठ नेता नकवी ने संवाददाताओं से कहा, हम (सरकार) चाहते हैं कि मजबूत विपक्ष हो, न कि वह अपवादों और असमंजस से भरा हो। अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि एक तरफ कांग्रेस राजनीतिक संकट की सुनामी का सामना कर रही है, तो दूसरी तरफ यह हताश सामंती शक्ति का शिकार है।

गांधी परिवार का परोक्ष रूप से हवाला देते हुए नकवी ने कहा, परिवार ने पंजे (कांग्रेस का चुनाव चिन्ह) को निजी संपत्ति बनाने के लिए सबसे पुरानी पार्टी को संकट में डाल दिया और इसे पंगु बना दिया है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए यह भी कहा कि कुछ लोग विपक्ष का चौधरी बनने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उनकी अपनी पार्टी ही उनके हाथों से निकल गई है।

नकवी के अलावा भाजपा महासचिव तरुण चुघ ने भी कांग्रेस पर निशाना साधा। आगामी विधानसभा चुनावों से पहले पंजाब में कथित तौर पर अव्यवस्था और अस्थितता पैदा करने के लिए उन्होंने कांग्रेस की आलोचना की। उन्होंने कहा कि पंजाब कांग्रेस में घिनौनी लड़ाई ने न केवल राज्य में शासन को पंगु बना दिया है, बल्कि इसने राष्ट्रीय सुरक्षा को जोखिम में भी डाल दिया है।

चुघ ने एक बयान में कहा, पंजाब की सीमा पर आईएसआई की योजना बहुत स्पष्ट है और गैर-जिम्मेदार कांग्रेस सरकार ने इसे जटिल बना दिया है। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस इस स्थिति को बरकरार रहने देती है तो इससे राज्य में कानून-व्यवस्था की गंभीर समस्या पैदा हो सकती है। उन्होंने कहा, यह पंजाब के लिए बेहद खतरनाक स्थिति है जिससे लोगों में असुरक्षा की भावना पैदा हो गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button