आरोपी आनंद गिरि का लैपटॉप और आईफोन बरामद होने के बाद पता चला कुछ ऐसा……

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि की मौत (Narendra Giri Death Case) के मामले की जांच कर रही सीबीआई बुधवार को मामले में मुख्य आरोपी आनंद गिरि को पूछताछ के लिए हरिद्वार स्थित उसके आश्रम लेकर पहुंची। इस दौरान आश्रम से आनंद गिरि का लैपटॉप, आईफोन आदि सामान बरामद कर लिया गया है। छानबीन में CBI को पता चला है कि आश्रम के CCTV कैमरों की DVR गायब है। सोमवार देर रात स्थानीय लोगों ने DVR चुराकर भाग रहे शख्स को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया था। CBI अज इस संदिग्ध व्यक्ति से भी पूछताछ कर सकती है।

ये DVR चोर के पास से पुलिस ने बरामद किया था लेकिन अब यह मिसिंग बताया जा रहा है। CBI स्थानीय पुलिस की इस लापरवाही के प्रति काफी नाराज भी नजर आई। इस मामले में यूपी सरकार की SIT जांच भी जारी है और फ़िलहाल तीनों आरोपियों की कस्टडी सीबीआई के पास है।

आनंद गिरि के हरिद्वार स्थित आश्रम से डीवीआर गायब होने के बाद सीबीआई का संदेह और गहराया गया है। CBI ने स्थानीय पुलिस से पूछा कि आनंद गिरि की गिरफ्तारी के बाद जब पुलिस ने उनके आश्रम को सील कर दिया था तो वहां चोर कैसे घुस गया? इस पूरे मामले में DVR एक अहम सबूत है, पुलिस की मौजूदगी में उसके गायब होने की भनक किसी को कैसे नहीं लगी?

श्यामपुर पुलिस से CBI ने न सिर्फ सवाल पूछे बल्कि उन्हें फटकार भी लगाई। DVR में मौजूद रिकॉर्डिंग के जरिए आसानी से पता चल जाता कि महंत नरेंद्र गिरि की मौत के समय और उससे पूर्व उनके आरोपित शिष्य के आश्रम में क्या-क्या गतिविधियां चल रही थी। उन लोगों के बारे में भी जानकारी होती जो पिछले तीन-चार दिनों में आनंद गिरि से मिलने के लिए आश्रम आए थे।

बुधवार को सीबीआई की एक टीम आनंद गिरि को फ्लाइट से लेकर देहरादून पहुंची थी। वहां से सीबीआई टीम आनंद गिरि को लेकर पांच गाड़ियों से हरिद्वार स्थित उनके आश्रम पहुंची। टीम को लीड सीबीआई के डीआईजी कर रहे थे। आश्रम के अंदर चले तलाशी अभियान के दौरान सीबीआई ने न केवल आनंद गिरि के आईफोन और लैपटॉप कब्जे में लिया बल्कि उनके चारों सेवादारों का मोबाइल भी जब्त कर लिया है। उनके आईफोन की डेटा रिकवरी कराने की तैयारी चल रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button