पुरानी भर्तियों में भी लागू होगा ईडब्ल्यूएस आरक्षण, जानिए किन परीक्षाओं में मिलेगा लाभ

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल

UPSSSC: उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पुरानी भर्तियों में भी आर्थिक रूप से कमजोरों को 10 फीसदी आरक्षण का लाभ देने जा रहा है। आयोग ने जिन भर्तियों के लिए पूर्व में आवेदन लिया है और उसकी अभी तक परीक्षाएं नहीं हुई हैं, ऐसी भर्तियों में आर्थिक रूप से कमजोर पात्र अभ्यर्थियों को लाभ देने के लिए प्रमाण पत्र लगाने का मौका मिलेगा। वही पात्र होंगे जिन्होंने भर्तियों के लिए पहले से आवेदन किया है।

राज्य सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोरों को भर्तियों में 10 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था की है। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने वर्ष 2016 व 2018 में कई ऐसे विज्ञापन निकाल कर भर्तियों के लिए आवेदन लिए हैं, जिनकी परीक्षाएं अभी तक नहीं हो पाई हैं। आयोग ने इस परीक्षाओं को कराने से पहले कार्मिक विभाग से आरक्षण देने के संबंध में राय मांगी थी। इसमें स्पष्ट कर दिया गया है कि एक फरवरी 2019 से पहले अगर विज्ञापन निकाल कर आवेदन लिए जा चुके हैं और परीक्षा नहीं हुई है, तो पात्रों को आरक्षण का लाभ दिया जाएगा।

आयोग की बैठक में इस पर विचार-विमर्श के बाद पुरानी भर्तियों में आरक्षण का लाभ देने का फैसला किया गया है। आयोग ने यह फैसला किया है कि राष्ट्रीय सूचना विज्ञान (एनआईसी) से नए सिरे से साफ्टवेयर तैयार करा लिया जाए। इसमें आरक्षण संबंधी प्रावधान कराते हुए पात्रों को आवेदन करने के लिए 15 दिन का मौका दिया जाए।

किसको कितने प्रतिशत आरक्षण

अनुसूचित जाति- 21 प्रतिशत
अनुसूचित जनजाति- 2 प्रतिशत
ओबीसी 27 प्रतिशत
आर्थिक तौर पर कमजोर सामान्य वर्ग- 10 प्रतिशत

इन भर्तियों में मिलेगा लाभ

कृषि मंत्री संयुक्त परिषद- 16 पद
जेई व फोरमैन- 1477
जेई सामान्य चयन- 672
सांख्यिकी अधिकारी की भर्ती- 904

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button