टीएमसी में शामिल हुए गोवा के पूर्व CM लुईजिन्हो फलेरियो

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : हाल ही में कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले गोवा के पूर्व सीएम लुईजिन्हो फलेरियो आज टीएमसी में शामिल हो गए। इस मौके पर टीएमसी के महासचिव अभिषेक बनर्जी मौजूद रहे। तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने से पहले फलेरियो ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की।

इसके बाद सीएम ममता ने ट्वीट कर कहा, ”गोवा के पूर्व सीएम, 7 बार के विधायक और गोवा के दिग्गज नेता लुईजिन्हो फलेरियो का तृणमूल कांग्रेस परिवार में स्वागत करना मेरे लिए गर्व की बात है. हम एक साथ गोवा के लिए खड़े होंगे। विभाजनकारी ताकतों से लड़ेंगे और गोवा के लिए एक नई सुबह की शुरुआत करने की दिशा में काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि मुझे महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) के पूर्व विधायक लवू मामलातदार, कांग्रेस महासचिव यतीश नाइक और विजय पोई, मारियो पिंटो डी सैन्टाना और आनंद नाइक का भी पार्टी में स्वागत करते हुए खुशी हो रही है।

 

लुईजिन्हो फलेरियो मंगलवार को कोलकाता पहुंचे थे। उनके साथ गोवा के कई अन्य नेता भी थे. टीएमसी में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा कि जब मैं टीएमसी में शामिल हो रहा हूं तो मेरा सपना कांग्रेस परिवार को एक साथ लाने का है। टीएमसी में शामिल होने के पीछे मेरा मुख्य मिशन बीजेपी और उसकी विभाजनकारी नीतियों, नफरत और प्रतिशोध की संस्कृति को हराना है. भारत पूरी तरह से आर्थिक मंदी की चपेट में है।

फलेरियो ने कहा कि गोवा को एक विश्वसनीय विकल्प की जरूरत है। मैं उनसे (ममता बनर्जी) गोवा की पहचान और विरासत की रक्षा के लिए गोवा आने का अनुरोध करता हूं।

 

बता दें कि पिछले दिनों भवानीपुर में टीएमसी चीफ ममता बनर्जी ने गोवा में चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। इसके बाद से टीएमसी नेता डेरेक ओब्रायन गोवा में डटे हैं। आज ही पणजी में एयरपोर्ट के पास ममता बनर्जी की तस्वीर वाले बैनर देखे गए।

 

नेताओं के टीएमसी में शामिल होने को लेकर कांग्रेस की गोवा इकाई के प्रभारी दिनेश गुंडू राव ने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस ‘‘बिल्कुल वही चीज कर रही है, जो बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के साथ किया था.’’ राव ने कहा, ‘‘तृणमूल का अर्थ है – जमीनी स्तर. ममता ने जमीनी स्तर पर काम किया है, लेकिन यहां (गोवा में) जमीनी स्तर पर काम कहां है? चार्टर्ड विमान में गोवा आना, लोगों से कहना कि यदि आप हमारी पार्टी में शामिल होंगे, तो हम आपके चुनाव के लिए धन मुहैया कराएंगे… यह बीजेपी की रणनीति लगती है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button