लखनऊ : महिला को बंधक बना आठ दरिंदों ने किया गैंगरेप, चार गिरफ्तार

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : लखनऊ शहर के ऑटो-रिक्शा चालकों ने लखनऊ को शर्मसार कर दिया। इन ऑटो और रिक्शा चालक समेत आठ लोगों ने कृष्णानगर की एक मानसिक मंदित महिला को आलमनगर की बीजी कालोनी में बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। विरोध करने पर उसके कपड़े फाड़ डाले और पिटाई की। उसके साथ दरिन्दगी कर सारे आरोपी फरार हो गये।

 

परिवारीजन 23 सितम्बर को अपनी इस बेटी को पूरी रात ढूंढ़ते रहे, दूसरे दिन आलमबाग कोतवाली में उनकी बेटी होने की सूचना पर वह वहां पहुंचे तो बेटी की हालत देखकर सदमे में आ गये। पुलिस ने आठों आरोपियों के खिलाफ एफआईआर की और चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। वारदात में शामिल चार अन्य आरोपी व एक मददगार महिला को पुलिस तलाश रही है।

 

कृष्णानगर में रहने वाली इस पीड़िता के पिता रेलवे में हेड क्लर्क पद से रिटायर है। पिता के मुताबिक उनकी बेटी 23 सितम्बर की शाम घर से निकली थी। इसके बाद उसका कुछ पता नहीं चला। उन्होंने रात साढ़े नौ बजे कृष्णानगर कोतवाली में उसकी गुमशुदगी दर्ज करा दी। फिर पूरा घर व रिश्तेदार बेटी को बस व रेलवे स्टेशन समेत अन्य स्थानों पर ढूंढते रहे। 24 सितम्बर की सुबह आलमबाग कोतवाली से फोन आया कि उनकी बेटी थाने में है। इसके बाद ही वह थाने पहुंच गये थे। बेटी के कपड़े फटे व उसकी हालत देखकर सब सकते में आ गये थे।

 

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि कृष्णानगर में आरती जूस कार्नर के पास वह खड़ा था। उसे एक ऑटो ड्राइवर ने घर छोड़ने के बहाने बहला-फुसलाकर बैठा लिया था। वह उसे आलमबाग ले गया। फिर यहां की एक रेलवे कालोनी में घर में ले जाकर उसे बंधक बना लिया। यहां सबने उसके साथ दुष्कर्म किया। घटना के समय एक महिला भी थी। इंस्पेक्टर अमरनाथ विश्वकर्मा ने बताया कि घटना में शामिल बीजी कालोनी निवासी शिवनंदन, उसके साथी सोने लाल, अशोक कुमार और गिरिजेश कुमार को रविवार देर रात ही गिरफ्तार कर लिया गया था।

 

पीड़िता के पिता के मुताबिक आरोपियों ने उनकी बेटी को टुपट्टे और रस्सी से बंधक बना लिया था। हाथ व पैर में रस्सी से कसे होने के निशान अभी तक बने हुए हैं। मौके पर एक महिला भी थी। आठ लोगों ने बेटी के साथ दुष्कर्म किया। वह बेसुध हो गईथी। सुबह आंख खुली तो वह कमरे में अकेली थी। किसी तरह वह थाने पहुंची थी।

 

एसीपी आलमबाग विक्रम सिंह ने बताया कि पीड़िता के बयानों के आधार पर आरोपित महिला और चार अन्य युवकों की तलाश की जा रही है। दो टीमें बना दी गई है। ये सब घर से फरार है। आटो चालक शिवनंदन और सोने लाल के साथ महिला ऑटो पर थी। महिला ने ही बहला-फुसला कर पीड़िता को ऑटो में बैठाया था।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button