मिशन 2022 : सत्ता में वापसी के लिए बीजेपी का चुनावी रोडमैप तय, जानिए कितने नेताओं की टीम को चुनाव प्रबंधन सौंपा

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : भाजपा मुख्यालय में तीन दिनों तक सत्ता में वापसी की तैयारियों पर मेराथन मंथन चला। केंद्रीय मंत्री और यूपी के चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान इस मंथन के निष्कर्षों के साथ शुक्रवार शाम दिल्ली लौट गए। अब वे मिशन-2022 को लेकर पार्टी नेतृत्व के सामने इस रोडमैप को रखेंगे। इससे पूर्व उन्होंने पार्टी के राज्य मुख्यालय में बंद कमरे में घंटों पार्टी के प्रदेश नेतृत्व संग चर्चा की। उन्होंने पार्टी के आगामी अभियानों, बूथ प्रबंधन, सामाजिक समीकरण, प्रचार अभियान, प्रधानमंत्री सहित अन्य केंद्रीय नेताओं के कार्यक्रमों सहित चुनाव से जुड़े विभिन्न विषयों पर विस्तार से बात करी।

मिशन-2022 के लिए भाजपा ने चुनाव और संगठन प्रभारियों की पूरी टीम उतार दी है। इसमें धर्मेंद्र प्रधान सहित आठ वरिष्ठ नेताओं की टीम को चुनाव प्रबंधन सौंपा गया है जबकि राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधामोहन सिंह के नेतृत्व वाली सात सदस्यीय टीम संगठन का मोर्चा संभालेगी। यूपी का चुनावी रोडमैप तय करने को यह सारे नेता तीन दिन से लखनऊ में थे। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर सहित अन्य चुनाव और संगठन के प्रभारी-सह प्रभारी गत दिवस रवाना हो गए थे। प्रधान ने शुक्रवार को फिर प्रदेश संगठन के नेताओं संग चुनावी तैयारियों से जुड़े हर मुद्दे पर सिलसिलेवार चर्चा की। इस चर्चा में प्रधान के संग प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, संगठन प्रभारी राधामोहन सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल शामिल थे।

प्रधान ने सेवा-समर्पण अभियान, बूथ विजय अभियान, प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन सहित मौजूदा कार्यक्रमों के साथ ही आगामी अभियानों को लेकर समीक्षा की। क्षेत्रों में सह प्रभारियों की बैठकें तय हो चुकी हैं। जिला और विधानसभा स्तर तक की बैठकों के कार्यक्रमों की रूपरेखा भी तैयार कर ली गई है। सबसे ज्यादा जोर बूथ प्रबंधन पर रहेगा। पार्टी द्वारा चलाए जा रहे बूथ विजय अभियान, पन्ना प्रमुखों की नियुक्ति और सम्मेलनों के साथ ही 26 से 2 अक्तूबर के बीच चलने वाले जनसंपर्क अभियान को प्रभावी बनाने की रणनीति तय की गई है। अधिक लोगों तक योगी-मोदी सरकार के काम पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।

पार्टी कार्यालय पर चली प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में आगामी अभियानों और कार्यक्रमों को लेकर विस्तार से चर्चा हुई। प्रदेश की सत्ता में वापसी के लिए पार्टी बूथ जीतने पर फोकस करेगी। चुनाव पूर्व पार्टी कई विशेष अभियान चलाएगी। इन अभियानों और कार्यक्रमों के जरिए प्रदेश में हर दरवाजे तक दस्तक दी जाएगी। पार्टी का प्रचार अभियान आकर्षक और आक्रामक होगा। इसके केंद्र में योगी-मोदी ही रहेंगे। इसकी थीम ईमानदार सरकार-काम दमदार और फर्क दिखता है, पर केंद्रित रहेगी। प्रदेश से लेकर बूथ स्तर तक की इकाइयां पूरे समन्वय के साथ चुनावी तैयारियों में जुटेंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button