यूपी पुलिस ने जारी किया एक्सीडेंट जोन, ऐप के जरिये पता चलेगा सफर आसान है या सावधान

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल : यूपी पुलिस अब आपकी यात्रा सहज और सुलभ हो इसका भी पुख्ता इंतजाम करने जा रही है। आम आदमी खासतौर पर महिलाओं को अगर शहर में किसी एक स्थान से दूसरे स्थान पर सफर करना है तो यूपीकॉप एप का संदेश आपको अलर्ट करेगा। बताएगा कि जिस रास्ते से आप गंतव्य को जाना चाह रहे हैं, उसमें क्या-क्या खतरे हैं। क्या वह रास्ता अपराधियों का टारगेट तो नहीं रहा है या फिर उस रास्ते में ब्लाइंड मोड़ के चलते दुर्घटना की आशंका तो नहीं है।

 

 

जी हां, प्रदेश पुलिस का तकनीकी विभाग इस सेवा को जल्द ही लांच करेगा। डीजी तकनीकी सेवा संदीप सालुंके ने बताया कि यूपीकॉप एप में एक नई सेवा को जोड़ा जा रहा है। इसके लिए एक नया जीआईएस (ज्योलाजिकल इंफारमेशन सिस्टम) क्रय किया गया है। मसलन, कोई महिला लखनऊ के सुदूर बख्शी का तालाब से सरोजनीनगर जाना चाहती है तो इस सेवा के जरिये उसे न केवल वह रास्ता सुझाया जाएगा, जिससे वह सुरक्षित सरोजनीनगर पहुंच सकती है बल्कि उसके मोबाइल पर एक अलर्ट संदेश भी भेजा जाएगा कि कहां-कौन से रास्ते पर अपराधियों ने पूर्व में वारदात की थी। लिहाजा वे सतर्क रहें।

 

 

 

यही नहीं इस यूपीकॉप एप की नई सेवा में रास्ते में लगने वाले जाम, दुर्घटना के लिए संवेदनशील इलाके यानी हाटस्पाट के अलावा गति सीमा और ब्लाइंड टर्न आदि की जानकारी भी दी जाती रहेगी। इसका मकसद लोगों के सफर खासतौर पर अकेले सफर करने वाली कामकाजी महिलाओं की यात्रा को सुरक्षित बनाना होगा। आपके पास आप्शन रहेगा कि आप पॉपअप या फिर बीप के जरिये अलर्ट संदेश ले सकेंगे। प्रदेश के डीजीपी मुकुल गोयल इसके लिए जल्द ही सभी तैयारियां पूरी होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से समय लेकर लांच करेंगे।

 

 

 

यूं काम करता है यूपीकॉप एप

प्लेस्टोर से यूपीकाप एप लोड करें। इसमें मोबाइल नंबर दर्ज कर ओटीपी के जरिये रजिस्टर करें। आप इस सेवा का इस्तेमाल कर सकेंगे।
यूपीकॉप एप को 15 लाख लोग डाउनलोड कर चुके हैं।
इसके जरिये लोगों ने 23 लाख एफआईआर को डाउनलोड किया गया।
-59074 लोगों ने ई-एफआईआर का आवेदन किया।
-5.33 लाख लोगों ने चरित्रप्रमाण पत्र बनवाए।

 

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button