Breaking News

कांग्रेस पार्टी के नेता व खुद राहुल गांधी अधिकतर एक्टिव नजर आ रहे सोशल मीडिया पर

कांग्रेस पार्टी के कुछ नेता  खुद राहुल गांधी पिछले एक वर्ष से जितने सोशल मीडिया पर एक्टिव नजर आ रहे हैं वह इससे पहले कभी नहीं थे, हम आपको मिलवा रहे हैं राहुल गांधी की सोशल मीडिया गुरू से  जिन्हें पहले तो पार्टी के कार्यकर्ताओं ने नकार दिया लेकिन फिर राहुल गांधी की उनपर नजर पड़ी  उन्होंने उसे पार्टी में एक नयी जिम्मेदारी दी.

ब्यूटी विथ ब्रेन की उपाधि प्राप्त इस अदाकारा ने सोशल मीडिया पर पार्टी के रंग रूप को बदल कर रख दिया है.  जिस तरह से राहुल गांधी पिछले एक वर्ष से सोशल मीडिया पर छाए रहे हैं  अपनी बात को सोशल मीडिया के द्वारा आम जन तक पहुंचाने का सफल रहे हैं इसके पीछे भी इसी महिला का हाथ है.

‘ब्यूटी विथ ब्रेन’ अक्सर एक वर्ग उन लड़कियों को कहता है जो सुंदर तो होती ही हैं साथ ही उनका दिमाग उससे भी ज्यादा तेज होता है. आज हम आपको ऐसी ही महिला से मिलवाने जा रहे हैं जो कन्नड़ फिल्मों में  अभिनेत्री रह चुकी हैं लेकिन जब से वह पॉलिटिक्स में आईं हैं उन्होंने राष्ट्र की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी कही जाने वाली कांग्रेस पार्टी का भी रंग रूप बदल दिया है. जी, हम बात कर रहे हैं दिव्या स्पंदन उर्फ रम्या की.

कर्नाटक के बंगलूरू में 29 नवंबर 1982 में पैदा हुईं रम्या के परिवार में कई लोग पॉलिटिक्स से जुड़े रहे हैं इसलिए बोला जाता है कि पॉलिटिक्स उनके खून में है.

दिव्या के माता पिता मांड्या के रहने वाले हैं  रम्या ने अपनी पढ़ाई सेंट हिल्दा स्कूल ऊटी  चेन्नई से की है. उनकी मां रंजीता कांग्रेस के कर्नाटक विंग की वरिष्ठ सदस्य हैं जबकि उनके नाना आर टी नारायण एक जाने माने उद्योगपति हैं. वैसे तो उनका नाम दिव्या स्पंदन है, लेकिन जब वह फिल्मों में आईं तो उन्हें नया नाम मिला रम्या, उन्हें यह नाम जाने माने एक्टर राजकुमार की पत्नी पर्वथम्मा ने दिया जब वह अपनी पहली फिल्म अभी कर रहीं थीं.

दिव्या ने अपना फिल्मी करियर 2003 में कन्नड़ भाषा की फिल्म अभी से प्रारम्भ किया. रम्या को बेस्ट एक्ट्रेस कन्नड़ के लिए दो बार फिल्म  फेयर सम्मान से सम्मानित भी किया गया है.

दिव्या ने 2013 में पॉलिटिक्स में कदम रखा  इंडियन राष्ट्रीय कांग्रेस की तरफ से मंड्या विधानसभा एरिया से चुनाव लड़ीं  जीतीं भी लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव में उन्हें पराजय का मुंह देखना पड़ा.

2014 में के लोकसभा चुनाव में वह मांड्या में सी एस पुत्तराजू से 5500 वोटों से पराजय गईं. दिव्या स्पंदन फिल्हाल कांग्रेस की सोशल मीडिया  डिजिटल कम्यूनिकेसन का कार्यभार संभाल रहीं हैं.

रम्या के लिए यहां तक पहुंचना भी सरल नहीं था, उन्हें पार्टी में नौसिखिया बोला जाता रहा लेकिन 2017 में राहुल गांधी ने उन्हें पार्टी की सोशल मीडिया का इंचार्ज बनाया.

सोशल मीडिया के कार्यभार दिए जाने के दौरान जब उनका इंटरव्यू लिया जा रहा था तब उनसे कई सवाल दागे गए, उनसे पूछा गया कि आप अपने प्रतिद्ंवद्वी को किस तरह से हैंडल करेंगी तो उन्होंने बोला था कि जब हम बात पॉलिटिक्स की करते हैं तो यहां हर जीत के लिए खेल खेलना होता है.

जब उन्हें कांग्रेस के सोशल मीडिया का कार्यभार दिया गया तब उन्होंने कई पेशेवरों को अपनी टीम में शामिल किया  अपनी ताकत को बढ़ाया. मजेदार बात यह है कि जब दिव्या ने यह पद संभाला था तो कांग्रेस पार्टी के सोशल मीडिया विंग में महज तीन महिलाएं थीं जो अब बढ़कर 85 प्रतिशत हो गई हैं.

एक साक्षात्कार में जब उनसे पूछा गया कि उन्होंने अपनी टीम में इतनी ज्यादा स्त्रियों को स्थानक्यों दी है तो दिव्या ने स्त्रियों के लिए बहुत ही अच्छी बात कही. वह बोलीं महिलाएं न केवल अलग सोचती हैं बल्कि किसी भी कार्य को बहुत अलग अंदाज में करती भी हैं. उन्होंने बोला कि स्त्रियों की टीम होने के बहुत फायदे हैं.

अपने छोटे से राजनीतिक करियर के बाद दिव्या ने एक बार फिर 2016 में उन्होंने नागराह्वू फिल्म से वापसी की. फिल्म रिव्यू बहुत ज्यादा निगेटिव थे जिसकी वजह से यह दर्शकों को आकर्षित करने में नाकामयाब रही.

ऐसा बोला जाता रहा है कि दिव्या स्विस जर्मन उद्योगपति राफेल के साथ रिलेशन में हैं  अफ़वाहतो यह भी है कि दोनों ने 2013 में विवाह भी कर ली है.

दिव्या के कांग्रेस पार्टी का सोशल मीडिया संभालने के बाद उसमें कई नए तरह के परिवर्तन भी देखने को मिले. जब उनसे एक साक्षात्कार में सोशल मीडिया के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बोला कि वह हर तरह के आम लोगों से जुड़े विषयों को सोशल मीडिया पर उठाती रहीं हैं.

दिव्या की सोशल मीडिया टीम में हर तरह का विभाग है  उसमें कार्य करने वाले लोग हैं जिसमें से डाटा एनालिस्ट से लेकर, अनुवादक, तकनीकी विशेषज्ञ, शोधकर्ता यहां तक कि एडवरटाईजमेंट पर नजर रखने वाले लोग भी हैं.

दिव्या का सबसे बड़ा एचीवमेंट हैं कि उनकी बेहतरीन सोच की वजह से ट्विटर पर राहुल गांधी के फॉलोअर की संख्या बढ़ी है वहीं राष्ट्र के सभी राज्य के कांग्रेस पार्टी की शाखा से लेकर केंद्र के नेता तक अब सोशल मीडिया में अपनी स्थान बना रहे हैं.

लेकिन जब भी राहुल के सोशल मीडिया पर बढ़ते फॉलोअर का क्रेडिट दिव्या को देने की बात होती है तब वह तपाक से कहतीं हैं नहीं यह राहुल गांधी की सोच का ही नतीजा है.

दिव्या का अगला कदम 2019 के चुनाव से पहले सारे राज्यों के कांग्रेस पार्टी के विंग को सोशल मीडिया पर लाना  उन्हें सुचारू रूप से चलाना है.

दिव्या रोहतक से सांसद दिपेंद्र सिंह हूडा  उनके बेटे, हरियाणा के पूर्व CM भुपिंदंर सिंह हूडा का भी सोशल मीडिया संभालती हैं.

दिव्या सोशल मीडिया पर न केवल राहुल गांधी के रैली  उनके कार्य को लोगों के सामने लाती हैं साथ ही बड़े नेताओं को जन्मदिन की शुभकामनाएं देने से लेकर उनकी किताब को लोकार्पण तक त्योहारों पर भी लोगों को शुभकामनाएं देनें में जुटी रहती हैं.

वैसे आज राहुल गांधी  कांग्रेस की जो भी चमक दमक सोशल मीडिया पर दिखाई दे रही है उसका सारा श्रेय दिव्या स्पंदन उर्फ रम्या को जाता है शायद यही वजह है कि उन्हें सोशल मीडिया में राहुल गांधी की टेक गुरू भी बोला जाने लगा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *