Breaking News

जमानत बचाने में सफल नहीं हो सके आप प्रत्याशी

दिल्ली  पंजाब से बाहर को विस्तार देने की योजना मंगलवार (11 दिसंबर) ( Assembly Elections results 2018) को एक बार फिर नाकाम होती दिखी चार राज्यों में विधानसभा चुनाव लड़ रही आप के ज्यादातर प्रत्याशी जमानत बचाने में सफल नहीं हो सके चारों प्रदेशों में आप को मिले वोट नोटा से कम रहे मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़  राजस्थान सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को हुई मतगणना में देर शाम तक घोषित परिणाम के आधार पर आप करारी पराजय मिली है

 

कहां उतारे थे कितने उम्मीदवार 
आप ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना में पूरी ताकत से चुनाव लड़ने का दावा किया था राजस्थान में आप ने 142 सीट, मध्य प्रदेश में 208 और छत्तीसगढ़ में 85 सीटों और तेलंगाना की 41 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे

AAP के घोषित सीएम को मिले मात्र 823 वोट
मध्य प्रदेश में आप द्वारा घोषित CM पद के दावेदार आलोक अग्रवाल को महज 823 वोट ही मिल सके नर्मदा बचाओ आंदोलन के सदस्य अग्रवाल भोपाल दक्षिण पश्चिम सीट से भाग्य आजमा रहे थे

कहां मिले कितने फीसदी वोट
छत्तीसगढ़ में आप को 0.9 फीसदी  राजस्थान में मात्र 0.4 फीसदी वोट से संतोष करना पड़ा आप का मत फीसदी इन राज्यों में नोटा के मत फीसदी से भी कम है इसे आप के मिशन विस्तार के लिए तगड़ा झटका माना जा रहा है दिल्ली से बाहर पार्टी अब तक सिर्फ पंजाब को छोड़ कर किसी अन्य राज्य में प्रभावी मौजूदगी दर्ज नहीं करा पाई है पंजाब में पहली बार चुनाव लड़ने के बाद आप राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी के रूप में उभरी थी

नेता ने बताई चुनाव लड़ने की वजह
आप के दिल्ली प्रदेश संयोजक और मध्य प्रदेश  छत्तीसगढ़ के प्रभारी गोपाल राय का मानना है कि आप ने संगठन विस्तार के नजरिए से चुनाव लड़ा था चुनाव के साथ यह मकसद पूरा हो गया है   चुनाव परिणाम से स्पष्ट है कि भाजपा को हराना जनता का लक्ष्य है  जो हरा रहा है जनता उसके साथ पूरी ताकत से खड़ी है इस तथ्य को ध्यान में रखते हुये आप दिल्ली की सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *