Breaking News

RBI गवर्नर उर्जित पटेल के बाद  UPSSSC के चेयरमैन चंद्रभूषण पालीवाल ने दिया इस्तीफा

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल.

लखनऊ. दिल्ली से शुरु हुआ इस्तीफों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा। इसकी आंच उत्तर प्रदेश में साफ देखी जा सकती है। एक के बाद एक इस्तीफे के बाद अब  UPSSSC के चेयरमैन चंद्रभूषण पालीवाल ने मुख्यमंत्री को इस्तीफा भेजकर सबको चौंका दिया है। इसके पीछे लगातार भर्ती कराने में असफलता और सरकार के द्वारा दबाव बनाया जाना बता रहा है। हांलाकि इस्तीफे में उन्होंने स्वास्थ्य करणों का हवाला दिया है।

आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद उत्तर प्रदेश अधीनस्थ चयन आयोग के चेयरमैन सीबी पालीवार ने मुख्यमंत्री से सामने अपने इस्तीफे की पेशकश की है। इस्तीफे में उन्होंने कहा कि डाक्टरों ने उन्हें स्वास्थ्य करणों से आराम करने की सलाह दी थी इसलिए सोमवार की रात 10 बजे तक बैठकर उन्होंने आयोग कार्यालय में सभी ज़रूरी काम निपटाने के बाद इस्तीफ़ा भेजा।

हांलाकि इस्तीफे के पीछे पेपर का लीक होना, समय पर परीक्षाओं का न हो पाना, जूनियर असिस्टेंट के विभागों का आवंटन न हो पाना और ग्राम पंचायत अधिकारी के पदों पर नियुक्ति में पूर्व सैनिकों को आरक्षण के मुद्दे पर चल रहे तरकार को भी माना जा रहा है। सीबी पालिवाल ने 22 जनवरी 2018 को आयोग के अध्यक्ष बनने के बाद रुकी हुई भर्तियां शुरू कराई थी।

कल्याण सिंह के मुख्यमंत्री के कार्यकाल में उनके सचिव रहे सेवानिवृत IAS अधिकारी सीबी पालीवाल ने इस्तीफा को अपना निजी कारण बताया है। उन्होंने राज्यपाल को इस्तीफा भेजा है। सीबी पालीवाल ने खुद भी मामले की पुष्टि कर दी है।

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग  काफी समय से नियुक्तियों को लेकर विवादों में रहा है। पालीवाल को इस आयोग के काम को पटरी पर लाने के लिए अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। ऐसे में जिस तरह से आयोग के चेयरमैन ने इस्तीफा दिया है, उसने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। इससे पहले तमाम धांधली के आरोप की वजह से आयोग को भंग कर दिया गया था।

एक बार फिर से जनवरी माह में मुख्य सचिव राजीव कुमार ने योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर आयोग का पुनर्गठन किया था जिसके बाद चंद्रभूषण पालीवाल को आयोग का चेयरमैन बनाया गया था। चंद्रभूषण पालीवाल को बीते वर्ष जनवरी में उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग का अध्यक्ष बनाया गया था। उनका कार्यकाल करीब एक वर्ष का रहा। इसी बीच वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे और डॉक्टरों ने उन्हें आराम करने की सलाह दी थी।

चंद्रभूषण पालीवाल 1981 बैच के आईएएस हैं और सेवानिवृत्त हो चुके है। पालीवाल मूलत: जालौन के रहने वाले हैं। इनकी अंतिम तैनाती राजस्व परिषद में थी। नवंबर 2014 में वह सदस्य राजस्व परिषद के पद से रिटायर हुए थे। पालीवाल को आरएसएस का बेहद करीबी माना जाता है। पालीवाल कई महत्वपूर्ण पद पर रह चुके हैं और बेहतर छवि वाले आईएएस में उनकी गिनती की जाती है।आईएएस चंद्रभूषण पालीवाल प्रमुख सचिव नगर विकास, स्वास्थ्य विभाग, परिवहन व भूमि सुधार जैसे विभागों में प्रमुख पदों पर कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *