Breaking News

खेल एक बार फिर दो शत्रु राष्ट्रों को करीब लाने का कर रहा है कार्य 

खेल एक बार फिर दो शत्रु राष्ट्रों दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया को करीब लाने का कार्य कर रहा है ये दोनों देश की मेजबानी के लिए दावा कर सकते हैं इन दोनों राष्ट्रों के दलों ने इसी वर्ष इंडोनेशिया में हुए एशियन गेम्स में एक साथ मार्च किया था जबकि, इससे पहले दक्षिण कोरिया के प्योंगचांग में हुए शीतकालीन ओलंपिक में दोनों राष्ट्रों की संयुक्त आईस हॉकी टीम ने भाग लिया था

दक्षिण कोरिया  उत्तर कोरिया ने खेल से संबंधित गठबंधन के लिए कार्य-स्तर पर चर्चा करने का फैसला लिया है दोनों राष्ट्रों की यह कार्यस्तर की मीटिंग काएसोंग कस्बे में स्थित संयुक्त अंतर-कोरियाई संपर्क ऑफिस में आयोजित की जाएगी इसमें 2032 ओलंपिक खेलों की मेजबानी की संयुक्त मेजबानी का विषय भी शामिल होगा सियोल के एकीकरण मंत्रालय ने सोमवार को इसकी जानकारी दी

माना जा रहा है कि दोनों टीमें 2020 में होनेे टोक्यो में होने वाले ओलंपिक में भी साथ आने का कोशिश कर सकते हैं मीटिंग में इस मुद्दे पर भी विचार किया जाएगा दक्षिण  उत्तरी कोरिया के बीच यह बातचीत प्योंगयांग डिक्लेरेशन के लागू होने का नतीजा है

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेए इन  शीर्ष उत्तरी कोरियाई नेता किम जोंग यून ने सितंबर में प्योंगयांग में अपने तीसरे शिखर सम्मेलन के बाद इस प्योंगयांग डिक्लेरेशन पर हस्ताक्षर किए थे इसी के तहत अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक कमेटी (आईओसी)  अन्य अंतर्राष्ट्रीय खेल महासंघों से चर्चा के बाद दोनों कोरियाई राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में संयुक्त रूप से भाग लेने के लिए राजी हो गए थे

इंडोनेशिया ने भी एशियन गेम्स के पास आयोजन के बाद 2032 में होने वाले ओलंपिक की मेजबानी के लिए दावा करने का फैसला लिया है  अगले तीन ओलंपिक की मेजबानी तय हो चुकी है वर्ष 2020 में जापान की राजधानी टोक्यो में ओलंपिक का आयोजन होगा इसी तरह 2024 में फ्रांस की राजधानी पेरिस इसकी मेजबानी करेगा जबकि, 2032 में अमेरिकी शहर लॉस एंजिल्स में ओलंपिक गेम्स होंगे

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *