Breaking News

 गवर्नमेंट द्वारा मनोनीत किये जाने पर राजदूतों के नामों पर संसदीय सुनवाई

नेपाल की संसद ने रविवार को पूर्व विधि मंत्री नीलांबर आचार्य को हिंदुस्तान में राष्ट्र का अगला राजदूत नियुक्त करने का अनुमोदन कर दिया संविधान में यह प्रावधान है कि संवैधानिक परिषद की सिफारिश पर गवर्नमेंट द्वारा मनोनीत किये जाने पर राजदूतों के नामों पर संसदीय सुनवाई समिति विचार करेगी उसके बाद राष्ट्रपति औपचारिक रूप से उनकी नियुक्ति करते हैं

समिति ने आचार्य, उदय राज पांडेय, अंजन शाक्य  कृष्ण प्रसाद ढकाल के नामों का क्रमश: भारत, मलेशिया, इजराइल  संयुक्त अरब अमीरात के राजदूत के तौर पर अनुमोदन किया चार प्रस्तावित राजदूतों के नाम अब औपचारिक नियुक्ति के लिये राष्ट्रपति बिद्या भंडारी को भेजे जाएंगे संसदीय समिति के सवालों के जवाब देते हुए आचार्य ने बोला कि यद्यपि हिंदुस्तान  नेपाल के बीच खुली सीमा है, ‘‘लेकिन दोनों राष्ट्रों के दिलों को खोला जाना अभी बाकी है ’’

उन्होंने बोला कि विश्वास का माहौल बनाने की आवश्यकता है क्योंकि द्विपक्षीय संबंधों में अब भी शक व्याप्त है पूर्व विधि एवं न्याय मंत्री आचार्य ने बोला कि वह इंडियन नेतृत्व से कहेंगे कि चाइना के साथ नेपाल का संबंध हिंदुस्तान के साथ उसके संबंधों को प्रभावित नहीं करता है उन्होंने बोला कि एक राजदूत को यह समझाने में अवश्य सक्षम होना चाहिये कि किसी राष्ट्र का दूसरे राष्ट्र के साथ संबंध अन्य राष्ट्र के साथ उसके रिश्तों की मूल्य पर नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *