Breaking News

भाजपा नेता का मर्डर सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं पर आरोप

पश्चिम बंगाल से एक बार फिर राजनीतिक हिंसा की समाचार आई है राज्य के दुर्गापुर जिले से भाजपा नेता की मर्डर का मामला समाने आया है इस राजनीतिक मर्डर का आरोप कथित तौर पर सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं पर लगाया है मामला दुर्गापुर के कांसा सरस्वतीगंज इलाके का है जहां संदीप घोष नाम के भाजपा कार्यकर्ता की गोली मारकर मर्डर कर दी गई

इस हमले में एक  आदमी भी घायल हुआ है जिसका नाम जयदीप बनर्जी है बताया जा रहा है घायल शख्स को फिल्हाल एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है ऐसा बताया जा रहा है कि भाजपा नेता पर ये हमला सरस्वती गंज मोड़ पर भाजपा बूथ समिति की सभा से निकलते किया गया इसी स्थान बदमाशों ने भाजपा नेता पर गोली चलाई

दुर्गापुर में भाजपा जिला अध्यक्ष लक्खण घरुई ने मर्डर की CBI जांच की मांग की है ऐसा बताया जा रहा है कि आज पश्चिम बंगाल से भाजपा सांसद  केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो सहित अन्य भाजपा नेता अस्पताल जा सकते हैं

बता दें कि 6 दिसंबर को भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष की गाड़ी पर कूचबिहार जिले के सीतलकुची इलाके में अज्ञात लोगों ने हमला किया था घोष भाजपाकी ‘रथयात्रा’ में भाग लेने के लिए कूचबिहार में थे जब वह जिले में मठभांगा जा रहे थे, तब उनकी गाड़ी पर हमला किया गया हमले के बाद सीतलकुची के सिताई में घोष ने बोला था ‘‘तृणमूल नेताओं ने मेरी कार पर हमला किया  चिल्ला कर मुझे वापस जाने के लिए कहा हिंसा के दौरान मेरे कुछ पार्टी कार्यकर्ता घायल हो गए पुलिस मूकदर्शक बनी रही ’’

तृणमूल कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता रविन्द्र नाथ घोष ने आरोपों को आधारहीन बताते हुए बोला था कि यह हमला भाजपा की ही अंतर्कलह का नतीजा था जिला पुलिस प्रशासन ने बोला कि वह घटना की जांच कर रहा है भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पार्टी की ‘‘लोकतंत्र बचाओ रैली’’ निकालने वाले हैं जिसके तहत राज्य में तीन ‘‘रथ यात्राएं’’ निकाली जाएंगी

बता दें कि कोलकाता हाईकोर्ट ने भाजपा की प्रस्तावित रथयात्रा पर रोक लगी दी है इस मामले की अगली सुनवाई 9 जनवरी को होगी न्यायालय ने बोला कि रथयात्रा की अनुमति देने से पहले जहां-जहां से यह गुजरेगी, उन जिलों के पुलिस अधीक्षकों से राय लिए बगैर अनुमति नहीं दी जा सकती है

कोर्ट ने बोला कि 21 दिसंबर से पहले सभी संबंधित जिलाधिकारी  पुलिस अधीक्षक भाजपा प्रतिनिधिमंडल से मिलकर बात करें, जिसके बाद रथयात्रा की अनुमति देने पर विचार करें इस विषय में न्यायालय ने याचिकाकर्ता (बीजेपी) को अगले सात दिनों के भीतर अनुपूरक हलफनामा (सप्लीमेंट्री एफिडेविट) जमा करने को बोला है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *