Breaking News

मुंबई के हीरा कारोबारी राजेश्वर उदानी की हत्या में आया टीवी की चर्चित बहू का नाम

पाँच दिसंबर को रायगढ़ ज़िले से लगे जंगलों में एक लाश मिली. शव की पहचान एक हीरा व्यापारी के रूप में होती है. इसमें एक पुलिसवाला, एक मंत्री का पूर्व सचिव और एक अभिनेत्री को गिरफ़्तार किया जाता है. पूरा का पूरा मामला किसी फ़िल्म की कहानी जैसी लगती है.

दरअसल, मुंबई के हीरा कारोबारी राजेश्वर उदानी की हत्या का मामला बहुत जटिल होता जा रहा है. पुलिस ने इस सिलसिले में अब तक तीन लोगों को हिरासत में लिया है, जिसमें सबसे चर्चित नाम टीवी अभिनेत्री देवोलीना भट्टाचार्य का है.

इस सिलसिले में देवोलीना के साथ ही सचिन पवार नाम के एक व्यक्ति को गुवाहाटी के एक होटल से गिरफ़्तार किया गया. इसमें एक निलंबित कॉन्स्टेबल दिनेश पवार का भी नाम आया है.

मुंबई पुलिस के एसीपी लखीम गौतम के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया कि पुलिस कॉन्स्टेबल पहले से ही 2014 के एक बलात्कार के मामले में गिरफ़्तार है.

उन्होंने बताया कि पहली नज़र में हत्या की वजह उदानी के साथ पैसों के लेनदेन में विवाद और सचिन की महिला मित्र को लेकर कलह है.

पुलिस का कहना है कि देवोलीना उन कुछ लोगों में से हैं जिनसे हीरा कारोबारी ने अपने फ़ोन पर बात की थी.

कौन हैं देवोलीना भट्टाचार्य?

एक्ट्रेस देवोलीना भट्टाचार्य असम से हैं और सीरियल ‘साथ निभाना साथिया’ में गोपी बहू का लोकप्रिय किरदार निभा चुकी हैं.

इसके अलावा वो ‘संवारे सबके सपने प्रीतो’ में भी काम कर चुकी हैं.

गुवाहाटी में 22 अगस्त 1990 को पैदा होने वाली देवोलीना भट्टाचार्य एक ट्रेन्ड भरतनाट्यम डांसर हैं.

साल 2011 से अपने करियर की शुरुआत करने वाली देवोलीना डांस इंडिया डांस सीजन टू के ऑडिशन में पहली बार नज़र में आई थीं.

इसके बाद वह टीवी की दुनिया में ‘संवारे सबके सपने प्रीतो’ में ‘बानी’ के किरदार के साथ उतरीं.

फिर एक्ट्रेस जिया मानिक के सीरियल से हटने के बाद देवोलीना रातोरात ‘साथ निभाना साथिया’ के लिए चुन ली गईं.

इडियट बॉक्स पर उनकी पहचान इसी सीरियल की मशहूर गोपी बहू की बदौलत बनी.

कुछ दिनों पहले कलर्स के सीरियल कुछ नए रिश्ते के साथ उनके जुड़ने की ख़बर भी खूब चर्चित रही.

देवोलीना ने अपने सात साल के टेलीविज़न करियर में ‘पसंदीदा बहू’ के रूप में अपनी पहचान छोड़ी है.

इस दौरान उन्हें सीरियल्स में अपने किरदार के लिए कई अवार्ड्स भी मिले हैं.

देवोलीना को 2013 में ‘आईटीए अवॉर्ड फॉर देश की धड़कन, 2014 में ‘स्टार परिवार अवार्ड्स’ में ‘फेवरेट बहू’, 2015 में ‘इंडियन टेली अवॉर्ड्स’ में बेस्ट एक्ट्रेस, ‘बिग स्टार इंटरटेनमेंट अवार्ड्स’ में ‘मोस्ट इंटरटेनिंग टेलीविज़न एक्टर- फीमेल’, स्टार परिवार अवार्ड्स में फेवरेट पत्नी और फेवरेट बहू, 2016 में ‘ज़ी गोल्ड अवार्ड्स’ में पॉपुलर बहू ऑन इंडियन टेलीविज़न और 2017 के ‘स्टार परिवार अवार्ड्स’ में ‘फेवरेट बहू’ का पुरस्कार मिला.

हाल के दिनों में बिकिनी समेत कई बोल्ड तस्वीरों की बदौलत देवोलीना इंटरनेट पर काफ़ी लोकप्रिय रही हैं.

उदानी मर्डर केस के उलझे तार

देवोलीना के साथ ही सचिन पवार नाम के एक व्यक्ति को भी गिरफ़्तार किया गया है.

सचिन पवार महाराष्ट्र के गृह निर्माण मंत्री प्रकाश मेहता के पूर्व निजी सचिव रह चुके हैं.

प्रकाश मेहता भी शुक्रवार की शाम को मीडिया को बता चुके हैं कि पवार 2004 से 2009 तक उनके साथ था लेकिन जब उसने (पवार ने) एक निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर बीएमसी का चुनाव लड़ा तो उससे सारे संबंध तोड़ लिए थे और भाजपा से निकाल दिया गया था.

अब तक पुलिस जांच से पता चला है कि उदानी कुछ बार में नियमित तौर पर जाया करते थे और सचिन पवार के जरिए ग्लैमर की दुनिया की महिलाओं समेत अन्य कई महिलाओं के संपर्क में थे.

लापता हो गए थे उदानी

राजेश्वर उदानी (57) 28 नवंबर को अपने ऑफ़िस से लापता हो गए थे.

पुलिस ने उनकी गुमशुदगी का मामला दर्ज किया और तलाशी शुरू की तो उनका मोबाइल नवी मुंबई के राबाले में होने का पता चला लेकिन फिर उनके मोबाइल का सिग्नल ग़ायब हो गया.

इसके बाद पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज किया.

उनके ड्राइवर ने पुलिस को बताया कि उदानी गाड़ी से पंत नगर मार्केट के पास उतर गए थे, जहां एक दूसरी गाड़ी आई और वो उसमें बैठ गए.

इसके बाद बुधवार को उदानी का डेड बॉडी मिला. उनके बेटे ने शव की पहचान की.

उदानी की हत्या के मामले में पुलिस अब तक क़रीब दो दर्जन लोगों से पूछताछ कर चुकी है और उस गाड़ी की तलाश कर रही है जिसमें लापता होने से पहले वो बैठे थे.

पुलिस अधिकारियों ने देवोलीना भट्टाचार्य की भूमिका के बारे में कुछ नहीं बताया, लेकिन संकेत दिया कि मनोरंजन उद्योग की कुछ और महिलाओं को पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *