Breaking News

प्रशासन की अनुमति के बिना सभा का आयोजन कर भाजपा के दिग्गज नेता फंस गए नई मुश्किल में

प्रशासन की अनुमति के बिना सभा का आयोजन कर भाजपा के दिग्गज नेता नई मुश्किल में फंस गए हैं। पश्चिम बंगाल पुलिस ने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, राहुल सिन्हा और प्रदेशाध्यक्ष दिलीप घोष के साथ-साथ करीब छह हजार कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

इन सभी पर प्रशासन की अनुमति के बिना शुक्रवार को जिनियाडांगा में सभा करने का आरोप है। कूचबिहार में जिस जगह पर भाजपा नेताओं ने सभा की थी वहां तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने गंगाजल और गौमूत्र से सभा स्थल का शुद्धिकरण कर दिया।

इनका नेतृत्व कर रहे टीएमसी नेता पंकज घोष ने कहा, ‘भाजपा ने यहां से सांप्रदायिक संदेश दिया है। यह भगवान मदनमोहन की धरती है। इसलिए हिंदू रीति-रिवाजों के हिसाब से हमने इस जगह का शुद्धिकरण कर दिया है।’

भाजपा ने अपनी प्रस्तावित रथ यात्रा के मुद्दे पर राज्य सरकार से कहा कि हाईकोर्ट के निर्देशानुसार वे अधिकारियों से चर्चा के लिए तैयार हैं। पश्चिम बंगाल भाजपा के उपाध्यक्ष जयप्रकाश मजूमदार और टीएमसी से भाजपा में आए मुकुल रॉय अधिकारियों को ज्ञापन देने के लिए सचिवालय भी पहुंचे थे।

हाईकोर्ट ने शुक्रवार को राज्य सरकार को निर्देश दिया था कि भाजपा के प्रतिनिधियों के साथ 12 दिसंबर तक बैठक कर रथ यात्रा के मुद्दे पर 14 दिसंबर तक फैसला करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *