Breaking News

मंदिर प्रांगण में श्री श्री रविशंकर के प्रोग्राम पर लगी रोक

मद्रास न्यायालय की मदुरै बेंच ने शुक्रवार को तंजावुर के बृहदेश्वर मंदिर के प्रांगण में श्री श्री रविशंकर के प्रोग्राम पर रोक लगा दी. आर्ट ऑफ लिविंग का दो दिवसीय प्रोग्राम शुक्रवार से ही प्रारम्भ होना था. यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में शामिल बृहदेश्वर मंदिर में व्यक्तिगत आयोजन प्रतिबंधित हैं.

कई तमिल संगठन आयोजन का विरोध कर रहे थे. संगठनों ने इसे रोकने के लिए न्यायालय में जनहित याचिका दायर की थी. याचिका में बोला गया था कि श्री श्री ने 2016 में यमुना किनारे विश्व कल्चरल फेस्टिवल का आयोजन किया था. इससे पर्यावरण को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचा था. नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने आर्ट ऑफ लिविंग पर 5 करोड़ का जुर्माना भी लगाया था. मामला अब भी न्यायालय में चल रहा है.

याचिका में बोला गया कि 1000 वर्ष पुराना मंदिर यूनेस्को द्वारा संरक्षित है. इसे बचाना हम सभी की जिम्मेदारी है. न्यायालय ने तंजोर के जिला कलेक्टर  तंजावुर के एसपी को सोमवार तक जवाब दाखिल करने को बोला है.

आर्ट ऑफ लिविंग के प्रोग्राम को इंडियन पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की ओर से शुरुआती मंजूरी मिली थी. ‘अनविलिंग इनफिनिटी’ नामक प्रोग्राम में करीब 2000 लोगों के जुटने का अनुमान था  उनके ठहरने के लिए मंदिर के प्रांगण में अस्थायी पंडाल लगाए जाने थे, जिसे लेकर सामाजिक संगठन विरोध कर रहे थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *