Breaking News

फर्जी खबरों की वजह से WhatsApp हुआ सख्त

सोशल नेटवर्किंग एप व्हाट्सएप  ने अगले साल लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अपने प्लेटफॉर्म के जरिये फर्जी खबरों के प्रसार को रोकने के लिये रेडियो के बाद अब टेलीविजन पर विज्ञापन प्रसारित करने का निर्णय लिया है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसने भारत में अपने उपयोक्ताओं के ऊपर सघन शोध किया और फिर उनके अनुभवों के आधार पर तीन टीवी विज्ञापन तैयार किये हैं।

कंपनी ने कहा, ‘‘तीनों विज्ञापन टेलीविजन, फेसबुक और यूट्यूब पर नौ भाषाओं में उपलब्ध होंगे तथा इनकी WhatsApp के उपयोक्ताओं के बीच व्यापक पहुंच होगी। इनका प्रसारण राजस्थान और तेलंगाना में चुनाव से पहले ही शुरू हो जाएगा।’’ ये विज्ञापन अंग्रेजी, हिंदी, बांग्ला, कन्नड़, तेलुगु, असमिया, गुजराती, मराठी और मलयालम में उपलब्ध होंगे। ये 60 सेकंड लंबी फिल्म के रूप में होंगे।

कंपनी ने कहा कि इन विज्ञापनों को खबरिया और सिनेमाई चैनलों के साथ कई चैनलों पर प्रसारित किया जाएगा। बाद में इन्हें ऑनलाइन और प्रिंट के विज्ञापन के जरिये भी प्रसारित किया जाएगा। कंपनी ने फर्जी खबरों पर लगाम कसने के लिये अगस्त में रेडियो के जरिये मुहिम की शुरुआत की थी। कंपनी को फर्जी खबरों को लेकर सरकार के कड़े रुख का सामना करना पड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *