Breaking News

आजमगढ़ में जहरीली शराब पीने से अब तक गवाई 27 लोगो ने जान, थाना इंचार्ज समेत 4 लोग निलंबित

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल  : आजमगढ़ में जहरीली शराब से गुरुवार को सात और लोगों की मौत हो गई। इस कांड में अब तक कुल 27 लोग जान गंवा चुके हैं। इस बार दीदारगंज थाना क्षेत्र के अरनौला और इमादपुर में लोगों की मौतें हुई हैं। पवई थाना में हुई मौतों के बाद दीदारगंज में शराब पीने की मौत से पूरे फूलपुर सर्किल में हडकम्प मच गया है। 4 लोग जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं उनका निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है।

 

 

दीदारगंज के अरनौला में बुधवार को चार लोगों की मौत और इमदादपुर में गुरुवार को तीन लोगों की मौत हुई। वहीं पुलिस मौतों को छुपाने में लगी है। जहरीली शराब कांड में मौतों का आंकड़ा जैसे-जैसे बढ़ रहा है, वैसे-वैसे लोगों का गुस्‍सा भी बढ़ता जा रहा है। आला अधिकारियों की निष्‍पक्षता पर लोग सवालिया निशान लगा रहे हैं। इमादपुर निवासी जोगिन्दर राजभर पुत्र राम दवर , संजय राजभर पुत्र समारू, केशव पुत्र सुरेन्द्र की मौत हो चुकी है।

 

 

अरनौला गांव निवासी लोचन पुत्र खदेरू व फेंकू पुत्र रिबई राजभर की भी मौत हो चुकी है। इसके साथ ही 2 आदिवासी (नाम अज्ञात) जो गांव में रहकर भीख मांग कर जीवन यापन करते थे उनकी भी मृत्यु जहरीली शराब पीने से हो गई है। चार लोग सुरेश, खजांची, देवी चरन और रवि राजभर गंभीरावस्था में जौनपुर जिले शाहगंज में भर्ती कराए गए हैं। दोनों गांवों में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है।

 

 

 

पहली बार प्रशासन ने मानी लापरवाही

पवई थाना क्षेत्र के मित्तूपुर में जहरीली शराब से हुई 20 लोगों की मौत के बाद भी सच्‍चाई को झुठलाने में जुटे प्रशासन की दीदारगंज में हुई मौतों से नींद खुली। पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने अवैध शराब बिकने और उस पर कोई कार्यवाही न करने पर पवई थानाध्यक्ष अयोध्या तिवारी, मित्तुपुर चैकी इंचार्ज अरुण कुमार सिंह और हेड कांस्‍टेबल राजकिशोर गौरव को निलंबित कर दिया है। बुधवार को पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर मित्तूपुर क्षेत्र में ऑटो से लाउडस्पीकर से ऐलान कर लोगों को शराब न पीने के लिए अलर्ट किया गया था।

 

 

अंबेडकरनगर में भी लोगों ने गंवाई है जान
उधर, पड़ोसी जिले अंबेडकरनगर में भी पांच लोगों की शराब से मौत हुई है। अंबेडकरनगर के डीएम ने आबकारी निरीक्षण समेत चार लोगों को निलंबित किया है। गिरफ्तार पांच तस्करों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज हो चुका है।

 

 

लोगों में बढ़ रहा गुस्‍सा
आजमगढ़ में घटना से आक्रोशित लोगों ने मंगलवार की दोपहर मित्तूपुर पुलिस चैकी का घेराव किया था। काफी संख्या में पुलिस बल के पहुंचने पर मामला शांत हुआ। पवई के बलाईपुर में आरोपी कारोबारी के घर के पीछे से अवैध शराब बरामद हुई। पुलिस ने मौके से जले हुए स्टीकर और ढक्कन भी बरामद किए। गुस्‍साए ग्रामीणों ने एसओ और चैकी प्रभारी के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की मांग की। ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि कार्रवाई नहीं होने पर वे थाने का घेराव करेंगे। स्थानीय लोगों का कहना है कि पवई थाना क्षेत्र के मित्तूपुर बाजार में पुलिस चैकी से कुछ मीटर की दूरी पर अवैध शराब का कारोबार होता है। बाजार में आस-पास के गांव के लोग पहुंचते हैं। कोरोना कर्फ्यू में सरकारी शराब की दुकाने बंद होने से लोग अवैध शराब पीने लगे थे। रविवार को लोगों ने एक शराब कारोबारी के पास लेकर अवैध शराब पी। रात में लोगों की हालत बिगड़ गई। उल्टी होने के साथ मुंह से झाग निकलने लगा। आंखो से कम दिखने लगा। परिजन पीड़ितों को स्थानीय निजी अस्पताल में भर्ती कराया। हालत गंभीर देख डॉक्टर ने रेफर कर दिया। कुछ लोगों के आंख की रोशनी चली गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *