Breaking News

अमिताभ बच्चन का जानिये अब तक का सफर, आर्थिक तंगी से गुजरे थे अमिताभ

स्टार एक्सप्रेस डिजिटल: अमिताभ बच्चन सालों से फिल्म इंडस्ट्री पर राज करते आ रहे हैं उनके करियर में एक दौर ऐसा भी था जब उन्हें आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। 1990 के दशक में अपनी कंपनी के घाटे में जाने के बाद अमिताभ बच्चन दिवालिया हो चुके थे। अब अभिषेक बच्चन ने इस बारे में खुलासा किया कि उन्हें उस वक्त पढ़ाई छोड़कर वापस घर आने के लिए कहा गया था। वह उनके परिवार के लिए मुश्किलों भरा समय था।

यूट्यूबर रणवीर इलाहाबादी के साथ पॉडकास्ट में अभिषेक कहते हैं कि ‘सच कहूं तो मैंने यूनिवर्सिटी छोड़ दिया था। मैं बोस्टन यूनिवर्सिटी में पढ़ रहा था। मैंने अपनी शिक्षा छोड़ दी क्योंकि मेरे पिता आर्थिक दिक्कतों से गुजर रहे थे। उन्होंने एबीसीएल नामक कंपनी शुरू की थी। मुझे नहीं लगता कि मैं किसी भी तरह से उनकी मदद करने के लिए योग्य था लेकिन मुझे यह महसूस हुआ कि एक बेटे के तौर पर मुझे अपने पिता के पास रहने और उनकी मदद करने की जरूरत है। इसलिए मैंने अपना कॉलेज छोड़ दिया और वापस आ गया। मैंने उनकी कंपनी में मदद करनी शुरू की।‘

एक रात उनके पिता ने उन्हें अपने पास बुलाया और बताया कि उनकी फिल्में चल नहीं रही हैं। बिजनेस भी चल नहीं रहा। कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। इसके बाद अमिताभ ने फैसला किया कि वो फिर से अपने अभिनय के करियर पर ध्यान देंगे और अगली सुबह वह यश चोपड़ा के घर पहुंचे। उन्होंने वहां जाकर कहा कि ‘देखिए मेरे पास कोई काम नहीं है। कोई मुझे अब काम नहीं दे रहा है। मेरी फिल्में नहीं चल रही हैं इसलिए मैं आपसे काम मांगने आया हूं। कृपया करके मुझे एक फिल्म में काम दे दीजिए।‘

उसके बाद यश चोपड़ा ने अमिताभ बच्चन को ध्यान में रखते हुए फिल्म ‘मोहब्बतें’ बनाई। मल्टीस्टारर यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रही थी। इसके साथ अमिताभ ने टीवी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ को करने के लिए हामी भरी। वो दौर ऐसा था जब माना जाता था कि टीवी पर वो कलाकार काम करते हैं जो फ्लॉप हो चुके हैं। तब अमिताभ ने टीवी पर काम करना चुना। जबकि उनका परिवार भी उनके इस फैसले से सहमत नहीं था। ‘कौन बनेगा करोड़पति’ ने उनके करियर को एक नई उछाल दी। दोनों ही प्रोजेक्ट्स चल निकले और अमिताभ ने इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *