Breaking News

कट्टरपंथियों के आगे घुटने टेकने पर मजबूर हुए इमरान खान, फ्रेंच राजदूत के निष्कासन के लिए करेंगे ये…

पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्री शेख राशिद ने मंगलवार को कहा है कि सरकार नेशनल असेंबली में फ्रेंच दूत के निष्कासन को लेकर एक प्रस्ताव लाएगी। साथ ही तहरीक ए लब्बैक पार्टी के खिलाफ दर्ज किए गए सभी मामले वापस ले लिए जाएंगे।

पैगंबर मोहम्मद के कार्टून को लेकर छिड़े बवाल के बाद कट्टरपंथी संगठन तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के हजारों समर्थक सड़कों पर उतर आए थे। बीते पूरे हफ्ते समर्थकों ने लाहौर में उग्र प्रदर्शन किया।

इमरान खान ने कहा कि अपने उलेमाओं से मैं खासतौर पर कहना चाहता हूं कि आपको मेरे साथ मिलकर हमारी मदद करनी चाहिए। ये जो हो रहा है इससे पाकिस्तान को नुकसान पहुंच रहा है। हमारे 800 से ज्यादा पुलिसवाले घायल हैं और अस्पताल में भर्ती हैं और ये जो हो रहा है.

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने देश की सटायरकिल मैगजीन की ओर से पैगंबर मोहम्मद के कार्टून छापे जाने के अधिकार की तरफदारी की थी। इसके बाद कई महीनों तक पाकिस्तान में फ्रांस के राजदूत के खिलाफ प्रदर्शन हुए। बता दें कि मुस्लिम समुदाय पैगंबर मोहम्मद के कार्टून छापे जाने को ईशनिंदा मानता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *