Breaking News

12 दुकानों को तोड़ने के विरोध में तीन बड़े मंदिर अनिश्चितकाल के लिए हुए बंद

गोवर्धन में एक आरती स्थल पर अस्थायी ढांचे  12 दुकानों को तोड़ने के विरोध में यहां के तीन बड़े मंदिर अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिए गए

के अतिक्रमण हटाने के आदेश के अनुपालन में बुधवार (28 नवंबर) को दानघाटी मंदिर के सामने बने आरती स्थल को ध्वस्त करने के विरोध में सेवायतों ने मंदिर के पट बंद कर दिए मंदिर के इतिहास में ऐसा प्रदर्शन पहली बार हुआ है वहीं, कपाट बंद होने से देश-दुनिया से आए श्रद्धालु बिना दर्शन कर निराश होकर लौटे है मंदिर के कपाट बंद होने से श्रद्धालुओं ने रोष जताया है

बुधवार (28 नवंबर) को अतिक्रमण हटाने के लिए अधिकारियों की अगुवाई में कई थानों की पुलिस  तीन-तीन जेसीबी पहुंचीं अधिकारियों को देख सेवायत रामेश्वर कौशिक ने मंदिर के पट बंद कर दिए सेवायतों ने आरती स्थल के सामने प्रशासन के विरूद्ध नारेबाजी की लेकिन, पीएसी आते ही सेवायत वहां से चले गए  मंदिर प्रबंधक डालचंद चौधरी स्टे आर्डर नहीं दिखा सके इसके बाद जेसीबी ने ध्वस्तीकरण प्रारम्भ कर दिया

दानघाटी मंदिर के मुख्य पुजारी रामेश्वर कौशिक ने बोला कि दानघाटी, गिरिराज मुकुट मुखारविंद  हरगोकुल मंदिर अतिक्रमण रोधी अभियान का विरोध कर रहे हैं उन्होंने बोलाकि गोवर्द्धन के ब्राह्मण समाज की मीटिंग गुरुवार को बुलाई गई है, जहां भविष्य की रूपरेखा तय की जाएगी

वहीं, जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्रा ने बोला कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण के आदेशों को लागू करने के लिए अतिक्रमण रोधी अभियान चलाए गए उन्होंने बोला कि एनजीटी ने हाल में एक आदेश में प्रशासन को 75 ढांचे तोड़ने के आदेश दिए थे  बोला था कि ऐसा नहीं करने पर दंडात्मक कार्रवाई हो सकती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *