Breaking News

अयोध्या में मंदिर को लेकर मोर्चा खोलते हुए शिवसेना ने इन पर बनाया दबाव

अयोध्या में ईश्वर राम के मंदिर को लेकर मोर्चा खोलते हुए शिवसेना ने बीजेपी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र गवर्नमेंट पर दबाव बनाना प्रारम्भ कर दिया है शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में बोला है कि ‘राम मंदिर का आंदोलन फिर से प्रारम्भ हो गया है या नहीं, हम नहीं बता सकते, लेकिन राम मंदिर रूपी भीगी हुई गुदड़ी को झटकने का काम निश्चित रूप से प्रारम्भ हो गया है राम मंदिर का तकिया बनाकर जो सोए थे, उनकी आंखें खोलने का कार्य शिवसेना ने किया है

Image result for शिवसेना ने इन पर बनाया दबाव

शिवसेना के मुखपत्र में लिखा है कि हम श्रीराम की पवित्र भूमि का वंदन करने के लिए निकल चुके हैं रामायण हिंदुस्तानी संस्कृति का खजाना है रामायण यहाँ के ज़िंदगी में व्याप्त है हिंदू जनमानस में ‘राम’ कितने जरूरी हैं, यह समझना महत्वपूर्ण है ‘ संपादकीय में आगे लिखा है कि ‘रामायण का हर पात्र अपने आप में अहम् है नायक के बराबर ही खलनायक भी जरूरी है निद्राग्रस्त कुंभकर्ण के कारण ही प्रचंड आंदोलन के बाद भी अब तक राम मंदिर नहीं बन पाया कुंभकर्ण रावण का भाई था, वह पराक्रमी योद्धा था वह 6 माह लगातार सोता था  6 माह तक जागता था

संपादकीय में लिखा है कि उसे जगाने के लिए ढोल बजाए जाते थे, उसके बॉडी पर हाथी चलाए जाते थे, डंडे पीटे जाते थे राम मंदिर के निर्माण के लिए भी हमें सोए हुए कुंभकर्ण को जगाना है उनसे कहना है कि उठो, राम के नाम पर जो सत्ता प्राप्त की  भोगा, उसे 5 साल बीत गए हैं आप राज वैभव का आनंद ले रहे हैं  हमारे राम अपने घर अयोध्या में ही वनवास काट रहे हैं चुनाव आ गए हैं इसलिए मत जागो, राम मंदिर निर्माण के लिए जागो, क्योंकि हर हिंदू की अब एक ही गर्जना है, ‘पहले मंदिर, फिर सरकार ’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *