Breaking News

चेहरे की त्वचा को रखना हैं सॉफ्ट और ग्लोविंग तो भूल से भी न करें ये गलतियाँ

गोरा और साफ-सुथरी स्किन हर लड़की और महिला की ख्वाहिश होती है। बढ़ते प्रदूषण, धूप, धूम-मिट्टी आदि के कारण त्वचा गंदी और काली पड़ने लगती है। अक्सर महिलाएं चेहरा चमकाने, चेहरे की रंगत निखारने के लिए तो खूब मेहनत करती हैं, पर शरीर के बाकी हिस्सों जैसे कोहनी, हाथ, पैर, गर्दन आदि की सफाई पर ध्यान नहीं देती हैं।

पीएच लेवल असंतुलित होने का खतरा

चेहरे की त्वचा शरीर के मुकाबले काफी मुलायम होती है, वहीं साबुन की प्रकृति क्षारीय होती है. ऐसे में अगर आप क्षारीय प्रकृति का साबुन रोजाना चेहरे पर लगाते हैं तो उससे पीएच स्तर असंतुलित होने का खतरा होता है. जिससे त्वचा को नुकसान पहुंचता है. चेहरे पर साबुन का प्रयोग डिटर्जेंट के इस्तेमाल जैसा है.

त्वचा को रूखा और बेजान बनाता

साबुन की प्रकृति क्षारीय होने के साथ उसमें कई तरह के रसायन होते हैं. इसके ज्यादा इस्तेमाल से चेहरे का प्राकृतिक तेल धीरे धीरे खत्म होने लगता है और त्वचा रूखी और बेजान सी नजर आने लगती है. कई बार उम्र से पहले ही चेहरे पर झुर्रियां नजर आने लगती हैं.

इससे शरीर की सफाई होगी और त्वचा के रंग में निखार आने लगेगा। नींबू एंटी एलर्जिक और एंटी टैनिंग गुणों से भरपूर होता है। इसमें मौजूद तत्व त्वचा को प्रदूषण के नुकसानदायक तत्वों से बचाए रखता है। इसके नियमित इस्तेमाल से त्वचा की रंगत साफ होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *