Breaking News

ये है अमृतसर हमले का गुनहगार, इन तस्वीरों में हुआ खुलासा

अमृतसर के राजासांसी क्षेत्र के अदलीवाल गांव में रविवार को हुए आतंकी हमले में शामिल आतंकियों की तस्वीरें सामने आई है। दरअसल आतंकी हमले के मामले में सीसीटीवी में हमलावरों की तस्‍वीरें कैद हो गई हैं। पुलिस ने ये तस्‍वीरें जारी की है। इसके साथ ही मामले की जांच तेज हो गई है। एनआइए ने भी जांच का मोर्चा संभाल लिया है। रविवार को यहां निरंकारी भवन में चल रहे सत्‍संग पर ग्रेनेड फेंका गया था। इससे हुए धमाके में तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि 20 से ज्यादा लोग घायल हो गए। हमले में पाकिस्‍तानी व कश्‍मीरी आतंकियों का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है। बताया जाता है कि तीन युवक सत्‍संग के दौरान वहां पहुंचे और ग्रेनेड फेंक दिया। यह मंच के पास फट गया। पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने कहा कि हम इसे आतंकी हमला मान रहे हैं। अन्‍य पहलुओं पर भी जांच की जा रही है।

Image result for अमृतसर ब्लास्ट: अमृतसर के अलावा गांव में हुए आतंकी हमले की जानकारी देने वालों को मिलेंगे 50 लाख

हमले में पाकिस्‍तानी व कश्‍मीरी आतंकियों का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है। बताया जाता है कि तीन युवक सत्‍संग के दौरान वहां पहुंचे और ग्रेनेड फेंक दिया। यह मंच के पास फट गया। पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने कहा कि हम इसे आतंकी हमला मान रहे हैं। अन्‍य पहलुओं पर भी जांच की जा रही है।

Image result for अमृतसर ब्लास्ट: अमृतसर के अलावा गांव में हुए आतंकी हमले की जानकारी देने वालों को मिलेंगे 50 लाख
खुफिया एजेंसियों को निरंकारी भवन पर हुए ग्रेनेड हमले का शक गोपाल सिंह चावला पर है जो आतंकी हाफिज सईद के साथ देखा गया था। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक चावला पंजाब में आईएसआई की मदद से धमाके करने की योजना बना रहा था। वह ऐसे ऐप्स के जरिए स्थानीय युवाओं को अपने साथ जोड़ रहा है जिसे आसानी से डिकोड न किया जा सके। खुफिया एजेंसियों से जुड़े सूत्रों के अनुसार, इस धमाके के पीछे गोपाल सिंह चावला का हाथ हो सकता है। गोपाल सिंह चावला पाकिस्तानी सिख है और वह पाकिस्तानी शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का पूर्व महासचिव है। उसे खालिस्तानी समर्थक माना जाता है। इतना ही नहीं सूत्रों की मानें तो आतंकी जाकिर मूसा के भी पिछले दिनों में कुछ खालिस्तानी समर्थकों से मिलने की खबर है। जाकिर मूसा को कुछ ही दिन पहले पंजाब में देखा गया था। इस बात की शंका जताई जा रही है कि जिन लोगों से जाकिर मूसा मिला है, वह स्लीपर सेल भी हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *